मध्यप्रदेश के लिए 1100.63 करोड़ स्वीकृत

नवभारत न्यूज ग्वालियर,

केंद्रीय ग्रामीण विकास , पंचायत एवं खनन मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर का ऐलान है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्रमोदी ने राष्ट्र के विकास का जो खाका खींचा है उसे मूर्त रूप देने में केंद्र धन की कमी को आड़े नहीं आने देगा ।

ग्वालियर प्रवास के दौरान विशेष चर्चा के दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री की विकास की अवधारणा को विस्तार से स्पष्ट करते हुए कहा कि श्री मोदी मानते हैं कि जब तक देश का हर गाँव सडक़ से नहीं जुड़ेगा तब तक ष्सर्वांगीण विकासष् स्वप्न अधूरा ही रहेगा । यही वजह है कि उन्होंने हर गाँव को सडक़ों से जोडऩे पर विशेष जोर दिया है और इसके लिए आड़े आने वाली धन की कमी को भी दूर करने का प्रयास किया है ।

एक महत्वपूर्ण जानकारी में ग्रामीण विकास मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने बताया कि प्रधानमंत्री ग्राम सडक़ योजना के तहत केंद्र ने १५४९.११ करोड़ रुपए स्वीकृत किये हैं जिसमें १९५५.४० करोड़ रुपए अकेले मध्यप्रदेश में गावों को सडक़ों से जोडऩे पर खर्च होंगे । प्रदेश में इस राशि से २८५९.०९ किलोमीटर कुल लम्बाई की २०४ नयी सडक़ें और इन सडक़ों को जोडऩे वाले ११६ पुल-पुलिया बनेंगे ।

प्रधानमंत्री ग्राम सडक़ योजना में सर्वाधिक तवज्जोह ग्वालियर – चंबल संभाग को मिली है । इनमें भी सबसे अधिक लाभ मुरैना के जनपद अंबाह, पोरसा , कैलारस , सबलग$ढ और जौरा को मिला है । मुरैना जिले में ६९२७. ८१ लाख रुपए से गाँव की सडक़ें आकार लेंगी।

शिवपुरी गाँव की सडक़ों केलिए ४०५२.८७ लाख रुपए स्वीकृत किये गये हैं । भिंड में ५१२४.११ लाख रुपए की लागत अनेक गाँव सडक़ से जोड़े जायेंगे । ग्वालियर जिले में १२५१.७२ लाख प्रधानमंत्री ग्राम सडक़ योजना केलिए स्वीकृत हैं । केंद्रीय मंत्री तोमर मानते हैं कि नवनिर्मित सडक़ों से जुडते ही गाँव के अपने विकास के पंख भी मजबूत होंगे और हमारे देश के गाँव हमारे प्रधानमंत्री की राष्ट्र-विकास की अवधारणा को मूर्त रूप देने में देरी नहीं करेंगे।

‘इसी क्रम में केंद्रीय मंत्री श्री तोमर ने यह भी बताया कि मध्यप्रदेश के साथ ही राजस्थान और ओडिशा केलिए भी प्रधानमंत्री ग्राम सडक़ योजना के तहत राशि स्वीकृत की गई है । स्वीकृत राशि में राजस्थान के गाँवों की बारह सडक़ों केलिए २२.४२ करोड़ रुपए का प्रावधान है वहीं ओडिशा राज्य के नक्सल-प्रभावित गावों को सडक़ों से जोडऩे के लिए कुल ४२६.०६ करोड़ रुपए स्वीकृत किए गये हैं ।’

Related Posts: