कंगारुओं की सबसे बड़ी जीत

ऑकलैंड,

ओपनर मार्टिन गुप्तिल का मात्र 49 गेंदों में बनाया गया तूफानी शतक बेकार चला गया.

ऑस्ट्रेलिया ने डी आरसी शार्ट की 76 और आरोन फिंच की नाबाद 36 रन की शानदार पारी के दम पर न्यूजीलैंड को त्रिकोणीय ट्वेंटीी-20 सीरीज के रोमांचक मुकाबले में आज सात गेंद शेष रहते पांच विकेट से हरा दिया. ऑस्ट्रेलिया ने इस तरह ट्वेंटी-20 इतिहास में लक्ष्य का पीछा करते हुए सबसे बड़ी जीत हासिल की.

गुप्तिल ने 49 गेंदों में शतक ठोका. उन्होंने 54 गेंदों पर छह चौके और नौ छक्के उड़ाते हुए 105 रन बनाये जिसकी बदौलत न्यूजीलैंड ने 20 ओवर में छह विकेट पर 243 रन का मजबूत स्कोर बना लिया. लेकिन न्यूजीलैंड के गेंदबाज इस स्कोर का बचाव नहीं कर पाए.

लक्ष्य मुश्किल था लेकिन ऑस्ट्रेलिया ने 18.5 ओवर में पांच विकेट पर 245 रन बनाकर रिकॉर्ड जीत हासिल की. शार्ट ने 44 गेंदों पर 76 रन की पारी में आठ चौके और तीन छक्के लगाए जबकि फिंच ने मात्र 14 गेंदों में तीन चौके और तीन छक्के ठोक का मैच सात गेंद पहले समाप्त कर दिया.

फिंच ने कोलिन डी ग्रैंडहोम पर विजयी छक्का मारा. शार्ट अपनी शानदार पारी के लिए मैन ऑफ द मैच बने. यह मैच रिकॉर्डों से भरपूर रहा. ऑस्ट्रेलिया ने लक्ष्य का पीछा करते हुए ट्वेंटी-20 की सबसे बड़ी जीत अपने नाम की. फिंच का पारी का आखिरी छक्का मैच का 32वां छक्का रहा जिससे एक मैच में 32 छक्कों के विश्व रिकॉर्ड की बराबरी हो गयी. इस मैच में कुल 488 रन बने.

रिकार्ड

न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच ऑकलैंड के छोटे मैदान पर खेला गया टी-20 कई तरह के रिकॉर्ड बना गया. एक रिकॉर्ड न्यूजीलैंड द्वारा टी-20 क्रिकेट में सर्वश्रेष्ठ स्कोर बनाने का था. दूसरा- मार्टिन गुप्टिल द्वारा तेज तर्रार शतक लगाने का. वहीं तीसरा रिकॉर्ड अपने आप में यूनीक है.

इस रिकॉर्ड के बनने से सबसे ज्यादा उन दर्शकों को मजा आया होगा जो ऑस्टे्रलिया और न्यूजीलैंड के बीच खेला गया यह टी-20 देख रहे थे. यह रिकॉर्ड था- एक टी-20 मैच में सर्वाधिक छक्के लगने का.

ऑकलैंड के मैदान पर दोनों टीमों ने 32 छक्के लगाए. इससे पहले यह रिकॉर्ड नीदरलैंड और आयरलैंड के नाम था. दोनों ने 2014 में सिलहट के मैदान पर खेले गए टी-20 में 30 छक्के लगाए थे. तीसरे और चौथे नंबर पर है भारत का नाम-मैच में सर्वाधिक शतक लगाने के मामले में तीसरे पर इंडिया और न्यूजीलैंड की टीमें हैं.

Related Posts: