राजस्थानी हवाओं ने बढ़ाई गर्मी

नवभारत न्यूज शाजापुर,

गुरुवार को गर्मी का पारा 40.4 डिग्री सेल्सियस के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया, जिसने गुरुवार को इस सीजन का सबसे गर्म दिन बना दिया. वहीं रात के तापमान 19.4 डिग्री दर्ज किया गया. मौसम विभाग की मानें तो राजस्थानी हवाओं के कारण तापमान में उछाल आ रहा है. यह सिलसिला आगामी दिनों में मौसम में और गर्माहट पैदा करेगा.

इस वर्ष अल्पवर्षा के कारण शाजापुर पहले ही सूखाग्रस्त की श्रेणी में शुमार हो गया है. इस पर राजस्थान से आ रही गर्म हवाओं ने मौसम को भी गर्म कर दिया है. बुधवार को अधिकतम तापमान 39.1 डिग्री दर्ज किया गया था, वहीं रात का तापमान 20.6 डिग्री था, लेकिन गुरुवार को सुबह से ही मौसम में गर्माहट का एहसास लोगों को होने लगा था. जैसे-जैसे दिन चढ़ा, सूरज की किरणें लोगों की चुभन बढ़ाने लगी.

दोपहर में राजस्थान की गर्म हवाओं ने लोगों को घरों में दुबकने के लिए मजबूर कर दिया. मौसम पर्यवेक्षक सत्येंद्र धनोतिया ने बताया कि गुरुवार इस सीजन का सबसे गर्म दिन रिकॉर्ड किया गया है. इस दिन अधिकतम तापमान 40 डिग्री को पार करते हुए 40.4 डिग्री तक पहुंच गया. हालांकि न्यूनतम तापमान में मामूली गिरावट दर्ज की गई.

क्योंकि बुधवार को न्यूनतम तापमान 20.6 डिग्री था, जो गुरुवार को लुढक़कर 19.4 डिग्री पर पहुुंच गया. धनोतिया ने बताया कि आने वाले कुछ दिन पारा 40 के आसपास ही बना रहेगा. इसके बाद तापमान में और बढ़ोत्तरी होगी.

राहगीरों की बढ़ी मुसीबत…

मौसम में गर्माहट जैसे-जैसे बढ़ रही है, वैसे-वैसे राहगीरों की मुसीबत भी बढऩे लगी है. क्योंकि सफर के दौरान भीषण गर्मी का सामना लोगों को करना पड़ रहा है. इसमें भी सबसे ज्यादा फजीहत बाईक सवारों की हो रही है. ऐसे में भीषण गर्मी और गर्म हवाओं के थपेड़ों से बचने के लिए बाईक सवार हेलमेट, सांफी और स्कार्फ का उपयोग कर रहे हैं, जिससे गर्मी का एहसास कुछ कम हो सके.

शीतल पेय दुकानों पर बढ़ी भीड़

गर्मी का असर तेज होने के साथ ही शीतलपेय दुकानों पर लोगों की भीड़ बढऩे लगी हैं. खासकर गन्ना रस दुकानों पर भीड़ अधिक है. इसके अलावा आइसक्रीम, कोल्ड्रिंक्स दुकानों पर भी भीड़ है. एक ओर दिन में भीषण गर्मी से राहत पाने के लिए लोग इनका सेवन कर रहे हैं, तो रात में ठंडक पाने के लिए लोग इनका लुत्फ उठा रहे हैं.

एसी-कूलर की बढ़ी डिमांड

गर्मी ने लोगों के पसीने छुड़ाना शुरू कर दिए हैं. ऐसे में लोग इससे राहत पाने के लिए एसी-कूलर का सहारा ले रहे हैं. व्यापारियों की मानें तो अचानक पारा 39-40 तक पहुंचने से एसी और कूलर की डिमांड बढ़ गई है.

बिजली की लुकाछुपी…

एक तो गर्मी का सितम, उस पर बिजली की लुकाछुपी ने लोगों की मुसीबत को और बढ़ा दिया है. दिन में अचानक बत्ती गुल होने से लोग पसीना-पसीना हो रहे हैं. वहीं बिजली कंपनी की लेतलाली के चलते रात में भी घंटों तक लोगों को अंधेरे में समय बिताना पड़ रहा है. बिजली कटौती की समस्या ग्रामीण क्षेत्रों में अधिक है. जिसके चलते लोगों को काफी समस्या का सामना करना पड़ रहा है.

 

Related Posts: