संगठनात्मक,प्रशासनिक सुधार पर केन्द्रित रही चर्चा

नवभारत न्यूज भोपाल,

राज्य विधान सभा चुनाव निकट आते ही भारतीय जनता पार्टी तेजी से सक्रिय हुई है. इसी को लेकर भाजपा से जुड़े अनुषांगिक संगठनों के पदाधिकारी भी राज्य में पनप रही विरोधी स्थिति से निबटने सक्रिय हो गये है.

राज्य के हर राजनैतिक घटनाक्रमों की अपडेट स्थिति पर निगाह रखे हुए है. इसी कड़ी में भाजपा संगठनात्म सुधार पर आज दूसरे दिन भी रातापानी में राष्ट्रीय सेवक संघ की मंथन बैठक में चुनावी रणनीति पर चर्चाएं चली. इस दौरान संघ के वरिष्ठ प्रचारक अपने-अपने स्तर पर बिंदुवार रणनीति पर समन्वय बनाने मंथन में जुटे रहे.

सूत्रों से पता चला है कि मप्र की ताजा स्थिति पर आए सर्वे की रिपोर्ट और पार्टी संगठनों के विविध सर्वे रिपोर्ट के आधार पर पार्टी की स्थिति को सुधारने के उपायों पर मंथन हुआ. इस मंथन में समन्वय किस तरह हो इस पर अधिक फोकस किया गया. बैठक में प्रदेश भर में संगठनात्मक राजनीतिक बिसात बिछाने पर भी चर्चा हुई. कमजोर विस क्षेत्रों में किस तरह की प्रशासनिक व्यवस्थाएं की जाएं इस पर भी सुझाव लिये गये.

ताकि पार्टी की छवि को समय रहते सुधारा जा सकें. और जनता में संगठन की पकड़ और मजबूत हो.बैठक में प्रचारकों ने खास तौर पर यह भी स्पस्ट किया कि संगठन में छोटे स्तर तक समन्वय में कमी न रहे.वार्ड स्तर तक कार्यकर्ताओं आपसी तालमेल रहे.

उनको तवज्जों दे और किसी भी हालत में उनकी उपेक्षा न करें.स्मरण रहे कि सीएम शिवराज सिंह चौहान ने बीते दिवस नागपुर स्थित संघ मुख्यालय में भारत बंद की हिंसा पर सफाई भी दी. इसी के साथ वर्तमान स्थिति के बारे में पदाधिकारियों को अवगत कराया.

पार्टी के तय कार्यक्रमों में सभी का ध्यान यह हो

बैठक में प्रचारों ने यह भी चर्चा में बात रखी कि प्रदेश भर मेें संगठन पदाधिकारी इस बात पर अधिक जोरे दे कि भाजपा शासन काल की उन सभी योजनाओं को चाहे वह केन्द्र पोषित हो व राज्य की सभी योजनओं की उपलब्धियां जनता को बताये.

जैसेे असंगठित क्षेत्र श्रमिक पंजीयन,लाडली लक्ष्मी, किसान बीमा योजना, मुख्यमंत्री स्वरोजगा योजना,स्वास्थ्य बीमा योजना, शिक्षा,तीर्थ दर्शन ,जैसी योजनाओं को आम जनता के बीच प्रचारित करें इन योजनाओं का क्रियान्वयन के लिए संबधित क्रियान्वयन एजेंसियों से समन्वय स्थापित करने पर ध्यान दिये जाने देने की जरूरत है.

Related Posts: