किसानों, गरीबों, दलितों को रिझाने शुरू की कई योजनाएं

नवभारत न्यूज भोपाल,

प्रदेश में विधान सभा चुनाव के मद्देनजर भाजपा में छवि सुधारने नए-नए जतन किये जा रहे है.इसके लिए सरकार ने भी किसानों, गरीबों, दलितों, पिछड़ों को लुभाने के लिए कई तरह की जनकल्याण की योजनाएं भी चला रखी है. ताकि जनता में सरकार की पकड़ मजबूत रहे.

वहीं हाई कमान से लेकर प्रदेश के सभी बड़े क्षत्रप नेता इन दिनों बैठकों में आपसी विचार मंथन में जुटे हुए है. सिलसिलेवार चल रही संगठनात्मक बैठकों में जनता की नब्ज को किस तरह पकड़ा जाए कि चौथी बारे फिर से भाजपा की सत्ता बरकरार रह सकें.

इसी कड़ी में पार्टी हाई कमान के दिशा निर्देशों के मुताबिक मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश प्रभारी डॉ. विनय सहस्त्रबुद्धे निरंतर पार्टी पदाधिकारियों और संगठन के अनुषांग्कि संगठनों के प्रमुखों से संपर्क कर संवाद मंथन में लगे है.

सर्वे की रिपोर्ट अनुसार बना रहे कार्ययोजना

पार्टी ने बड़े ही गोपनिय तरीके से अलग-अलग संस्थाओं, मीडिया सर्वे रिपोर्टों की जमीनी हकीकत को समझने और उसकी हकीकत को जानने तेजी से कार्य शुरू कर दिया है. बताया जा रहा है कि वर्तमान में पार्टि के खिलाफ जनता में खासा आक्रोश इन सर्वे रिपोर्टों में बताया जा रहा है. इसको लेकर पार्टी आला कमान गंभीर हो गया है. इसी के चलते मप्र में निरंतर संगठनात्मक बैठकों का दौर शुरू हो गया है.

इन बैठकों में कमजोर विस क्षेत्रों और कांग्रेसी क्षत्रप वाली सीटों पर पार्टी की रणनीति किस तरह की हो. वहां पार्टी प्रत्याशी को विजय किस तरह से मिले इस पर मंथन का दौर जारी है. साथ ही वर्तमान में पार्टी के खिलाफ बन रहे आक्रोश को किस तरह मिटाया जाये. इस पर तेजी से काम चल रहा है.

सिलसिलेवार कार्यक्रम तय

पार्टी की छवि सुधारने के लिए ही हाल ही में हाई कमान के अलर्ट पर प्रदेश में संगठनात्मक कई कार्यक्रम तैयार किये गये है. इसमें किसान सम्मान यात्रा, पिछड़ा वर्ग से जुड़े महापुरूषों, दलित वर्ग को रिझाने डॉ. बाबा साहेबी भीमराव अम्बेडकर जयंती अवसर जैसे अनेक महत्वपूर्ण कार्यक्रम भाजपा ने शुरू किये है.

इसके तहत सभी पार्टी पदाधिकारी, जनप्रतिनिधि सरकार की रीति नीति से आमजन को बताने में जुटी हुई है. इन्हीं कार्यक्रमों के बीच राज्य व केन्द्रीय सरकार के सभी महत्वपूर्ण कामकाज की उपब्धियां भी आमजन को बताई जा रही है. साथ ही जनकल्याण की योजनाओं का पात्र हितग्राहियों को अधिक से अधिक मिले. इसकी भी जिम्मेवारी पार्टी पदाधिकारी, जनप्रतिनिधि संभाल रहे है.

संगठनात्म ढांचे में सुधार पर भी मंथन

भाजपा में संगठनात्मक नये नेतृत्व को लेकर पार्टी के दिग्गज नेताओं में मंथन जारी है. बताया जाता है कि सभी दिग्गिज नये नेतृत्व पर एकमत नहीं है. संगठन सूत्रों के मुताबिक बीते दिवस भी प्रदेश कोर कमेटी की बैठक के स्थानीय केरवा रोड स्थित शारदा बिहार में हुई थी.

बैठक उपरांत संघ केसंघ के सहकार्यवाह कृष्णगोपाल और भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री रामलाल ने इस बारे मेंं पार्टी के कुछ वरिष्ठ नेताओं से अनौपचारिक चर्चा भी कि लेकिन ये सभी दिग्गज नेता किसी सर्वसम्मति से किसी एक नाम पर सहमत नहीं हो पाए.

नेताओं का कहना था कि पार्टी हाईकमान जो भी निर्णय करेगा उसी अनुसार वे उस निर्णय को ही फालो करेंगे. गत दिवस हुई इस बैठक में भाजपा और संघ में समन्वय के अलावा कोर कमेटी के सदस्यों से संगठनात्मक गतिविधियों पर चर्चा हुई थी। साथ ही सरकार और संगठन को लेकर मिल रहे फीडबैक पर भी लंबी बातचीत हुई.

Related Posts: