संत नगर में दूसरे दिन भी जारी रही अतिक्रमण विरोधी कार्यवाही

संत हिरदाराम नगर,

दो वर्षों से विवादों में रहे आदर्श मार्ग में बाधा बनी 68 दुकान व मकानों को तोडऩे की कार्यवाही शुक्रवार को भी जारी रही.

हालांकि छुटपुट विवाद के बाद निगम ने अपनी कार्यवाही करीब सुबह 11 बजे शुरु की. बड़ी संख्या में नगर निगम का अतिक्रमण विरोधी अमला संत नगर पहुंचा. जहां अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही शुरु की गयी है.

उधर, डॉ जी.टी. खेमचंदानी क्लीनिक के पास पानी के प्याउ को तोडऩे को निगम कर्मचारी व महिला में विवाद हुआ हालांकि महिला को शांत किया गया तब जाकर मामला रफा-दफा हुआ और निगम का अमला चंचल चौराहे की ओर बढ़ा जहां करीब दो दर्जन दुकानों को ध्वस्त किया गया.

जिनमें चंचल चैराहा के नाम से स्वीट हाउस को तोडऩे की कार्यवाही शुरु हुई जबकि पुलिस चौकी के पीछे पान की दुकान सहित करीब 4 दुकानों को भी ध्वस्त किया गया. इसके अलावा अन्य दो दर्जन दुकानों को भी ध्वस्त किया गया.

जानकारी के मुताबिक नगर निगम का अतिक्रमण विरोधी अमला संत नगर 11 बजे पहुंच गया था इसके बाद बड़ी संख्या में नगर निगम कर्मचारी अधिकारी व स्थानीय पुलिस प्रशासन की मौजूदगी में कार्यवाही शुरु की गयी जो करीब साढ़े पांच बजे तक चलती रही.

इसके बाद शनिवार से दुकानों का टूटा मलवा हटाने की कार्यवाही की जाएगी. हालांकि अभी पूरी तरह दुकानें व मकानों को नहीं तोड़ा जा सका है जहां आज शनिवार को बाकी की कार्यवाही शुरु होगी.

जानकारी के अनुसार बैरागढ़ बस स्टेण्ड से प्रेमचंदानी मार्ग होते हुए चंचल चौराहा तक 15 मीटर चौडा रोड बनाया जा रहा है. इसकी प्रक्रिया पिछले 2 सालों से चली आ रही है हालांकि चंचल मार्ग को तोडऩे के लिए कई बार निगम का अमला आया और वापिस चला गया.

लेकिन पिछले दिनों एक स्थानीय पंचायत द्वारा महापौर को एक ज्ञापन दिया गया था जिसमे उल्लेख किया गया था कि चंचल मार्ग को बनाए जाने में देरी हो रही है तब जाकर महापौर ने निगम के अधिकारियों को फटकार लगाई थी और कहा था मार्ग में बाधा बने अवैध अतिक्रमण को तत्काल हटाया जाए नहीं तो अधिकारी कार्यवाही के लिए तैयार रहें.

चंचल स्वीट हाउस को तोडऩे पर विवाद

जैसे ही नगर निगम का अमला चंचल स्वीट हाउस को तोडऩे के लिए मौके पर पहुंचा उसी दौरान मालिक ने तोडऩे का विरोध किया और निगम अधिकारी व स्थानीय पुलिस से तू-तू, मैं-मैं भी हुई.

इस दौरान निगम ने चंचल स्वीट हाउस को तोडऩे की कार्यवाही की हालांकि काफी विरोध दुकान को तोडऩे के लिए निगम अधिकारी व स्थानीय पुलिस को झेलना पड़ा साथ ही पुलिस ने हल्का लाठीचार्ज भी किया जिससे कि तमाशा देख रहे व्यक्तियों को पुलिस ने खदेड़ा और कार्यवाही शुरु हुई.

Related Posts: