• 3 तलाक बिल पर विपक्ष से मांगा सहयोग
  • करदाताओं को राहत मिलने की उम्मीद

नई दिल्ली,

सोमवार को बजट सत्र के शुरुआत से पहले पीएम नरेंद्र मोदी ने एक बड़ा संकेत दिया है. अपने संबोधन में पीएम मोदी ने संकेत दिया है कि बजट न केवल देश की इकॉनमी की रफ्तार को सपॉर्ट देने वाला होगा बल्कि इसमें आम लोगों की आशाओं को भी पूरा किया जाएगा.

पीएम के इस संकेत के बाद बजट में करदाताओं के लिए राहत मिलने की उम्मीद की जा सकती है. पीएम ने शीतकालीन सत्र में राज्यसभा में अटक गए ट्रिपल तलाक बिल को लेकर भी विपक्ष से अपील की.

पीएम ने कहा कि वह विपक्षी पार्टियों से अपील करते हैं कि मुस्लिम महिलाओं के हक की रक्षा करने के लिए जो फैसला हुआ है, सब उसका सम्मान करें. पीएम ने कहा कि हम सबको मिलकर नए साल में मुस्लिम महिलाओं को यह सौगात देनी चाहिए.

पीएम मोदी ने ट्रिपल तलाक बिल को पास करने के लिए अपील तो की है लेकिन इसकी संभावना कम ही है कि विपक्ष इसे सुने. ऐसे में बजट सत्र में सत्तापक्ष और विपक्ष के बीच संग्राम छिडऩे के पूरे आसार बन गए हैं. रविवार को सर्वदलीय बैठक में सरकार के साथ ही विपक्ष ने भी इसके साफ संकेत दे दिए हैं.

मोदी सरकार साफ कर चुकी है कि वह विपक्ष के विरोध के बावजूद तीन तलाक बिल को राज्य सभा से पारित कराने के लिए कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगी. वहीं, कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों ने सरकार को तीन तलाक के साथ ही दूसरे ताजा मुद्दों पर घेरने की रणनीति के संकेत दिए हैं.

राष्ट्रपति के अभिभाषण के साथ बजट सत्र शुरू

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण से सोमवार को संसद के बजट सत्र की शुरुआत हो गई. राष्ट्रपति ने एक तरफ सरकार की उपलब्धियां गिनवाईं, वहीं ट्रिपल तलाक, देशभर में एक साथ चुनाव जैसे मोदी सरकार के अजेंडे पर भी सहमति बनाने की अपील की.

राष्ट्रपति ने अपने अभिभाषण में किसान, मजदूर, मध्यम वर्ग, स्टूडेंट्स के लिए सरकार की योजनाओं के अलावा सामाजिक न्याय के प्रयासों का भी जिक्र किया. कोविंद के संबोधन में मोदी सरकार की आतंरिक और विदेशी नीति के हर पहलू को समेटने की कोशिश की गई. राष्ट्रपति ने अपने अभिभाषण में पूरे देश में एक साथ चुनाव की जरूरत पर भी बल दिया.

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से मिलेगी राहत

बजट को लेकर भी पीएम मोदी ने संकेत दिया है. पीएम ने कहा कि बजट सत्र काफी महत्वपूर्ण है. विश्व की सभी क्रेडिट एजेंसियां, वल्र्ड बैंक और आईएमएफ का भारत की अर्थव्यवस्था पर सकारात्मक रुख है.

पीएम ने कहा कि यह बजट देश की बढ़ रही इकॉनमी को एक नई ऊर्जा देने वाला होगा. सामान्य लोगों की आशाओं को पूरा करने वाला होगा. इस बार बजट में उम्मीद जताई जा रही है कि सरकार करदाताओं को राहत देते हुए इनकम टैक्स स्लैब को बढ़ा सकती है. इसके अलावा पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से त्रस्त लोगों को भी बजट में राहत मिलने की उम्मीद की जा रही है.

Related Posts:

केन्द्र ने दस लाख के विरुद्ध 2.65 लाख मी. टन गेहूँ ही उठाया
नरसिंह पर चार साल का प्रतिबंध ,आेलंपिक सपना चकनाचूर
हिंसा भड़काने वालों से बातचीत नहीं : महबूबा
भारत आपदा जोखिम में कमी लाने के प्रति वचनबद्ध : राजनाथ
बर्थडे पर पीएम मोदी का गिफ्ट, सरदार सरोवर बांध देश को किया समर्पित, 65 हजार करोड...
श्रीनगर मुठभेड, सीआरपीएफ कांस्टेबल शहीद, अातंकवादी इमारत में छिपे