जम्मू काश्मीर में पाकिस्तान की ओर से हो रही गोलीबारी से और अफगानिस्तान में तालिबानी आतंकी हमलों से स्थितियां काफी गंभीर हो गयी हैं. काश्मीर में युद्ध जैसी स्थिति निर्मित होती जा रही है और किसी भी वक्त स्थिति बहुत विस्फोटक हो सकती है.

भारत सरकार ने कहा है कि वह अलर्ट है और हालात पर पूरा ध्यान दिया जा रहा है. इस माह की 18 जनवरी से अंतरराष्टरीय सीमा पर पाकिस्तान की ओर से गोलाबारी हो रही है- इसमें एक जवान सहित 4 लोगों की मौत और 9 अन्य घायल
हुए हैं.

इन सीमावर्ती क्षेत्रों में यहां के रहने वालों को इलाका खाली कर दूसरे जगहों पर भेजा जा रहा है. इसी से अंदाजा हो रहा है कि भारत सरकार किसी बड़ी फौजी कार्यवाही का इरादा रखती है. गोलाबारी के चलते इस क्षेत्र के कई गांव खाली हो गए हैं. सेना की तरफ से कहा गया है कि बेशक मौजूदा परिदृश्य और हालात संवेदनशील हैं.

पाकिस्तान ने 45 भारतीय चौकियों व गांवों पर गोले दागे हैं. जम्मू, सांबा और कठुआ जिलों में स्थित चौकियों को निशाना बनाया गया है. नौशेरा के झंगड़ इलाके में करीब 100 बच्चे एक स्कूल में फंस गये और पुलिस व प्रशासन ने उन्हें सुरक्षित बाहर निकाला है. इस क्षेत्र में स्कूल बन्द कर दिये गये हैं. भारतीय सेनाओं ने जवाब में गोलाबारी की.

सीमा सुरक्षा बल के डायरेक्टर जनरल श्री के.के. शर्मा ने कहा है कि कि सीमा पर युद्ध जैसे हालात है जबकि पाकिस्तान भारत पर ही गोलाबारी का आरोप लगा रहा है.

कुछ ही दिन पहले अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में भारतीय दूतावास पर तालिबानियों द्वारा राकेट दागा गया. इससे कोई हताहत नहीं हुआ. कई वर्षों पूर्व मुंबई में होटलों पर 9/11 का जिस तरह का हमला किया गया था, उसी तरह का हमला काबुल में कान्टीनेन्टल होटल पर भी इसी 20 जनवरी को किया गया है.

यह तालिबानी हमला था- जिन्हें पाकिस्तान और चीन सैनिक हथियार पहुंचाते रहते हैं. यहां सेना व आतंकियों में मुठभेड़ जारी है. आतंकियों ने होटलों में ठहरे कई लोगों को बंधक बना लिया है. इस होटल में आग लगा दी है और इसमें कई लोगों के मारे जाने का अंदेशा हो रहा है. आतंकी होटल में घुस गये हैं और गोलियां बरसा रहे हैं. अफगानी फौजों ने पूरा इलाका घेर रखा है.

जम्मू काश्मीर में जो भारत और पाकिस्तान के बीच गोलाबारी हो रही है उसमें 10 पाकिस्तानी रेंजरों और पांच भारतीय जवानों की इन दिनों में मौत हो चुकी है. पाकिस्तान की दो मोर्टार चौकियों को तबाह कर दिया गया है. पाकिस्तान 19 सेक्टरों को निशाना बनाकर करीब 60 भारतीय चौकियों और 120 गांवों में गोले दागे हैं.

भारतीय क्षेत्र में लगभग 40 हजार लोग घर छोडक़र राहत शिविरों में पहुंचा दिये गये हैं. दोनों तरफ से भारी गोलाबारी हो रही है और स्थिति बहुत ही संगीन हो गई है.

Related Posts: