मेलबोर्न,

भारत की अरूणा बुद्धा रेड्डी ने यहां जारी जिमनास्टिक विश्वकप में शानदार प्रदर्शन करते हुए शनिवार को कांस्य पदक जीत कर इतिहास रच दिया जबकि पुरुष रिंग फाइनल स्पर्धा में कांस्य पदक जीतने से चूक गए।
22 साल की अरूणा ने महिला वोल्ट स्पर्धा में 13.649 का स्कोर कर टूर्नामेंट में भारत के पदक जीतने का खाता खोल दिया। एक अन्य भारतीय प्रणीति नायक पदक जीतने से चूक गईं। नायक ने 13.416 का स्कोर किया और वह छठे नंबर पर रहीं।

टूर्नामेंट में अरूणा के अलावा स्लोवाकिया की ट्जासा क्लिसलेफ ने 13.800 के स्कोर के साथ स्वर्ण पदक जीता जबकि मेजबान आस्ट्रेलिया की एमिली व्हाइटहेड ने 13.699 का स्कोर कर रजत पदक पर कब्जा जमाया।

पुरुष रिंग फाइनल स्पर्धा में राकेश कुमार पातरा 700 अंकों से पदक पर कब्जा जमाने से चूक गए। राकेश ने फाइनल में 13.733 का स्कोर किया और वह चौथे स्थान पर रहे।

Related Posts:

जापान की मैग्लेव बनी सबसे तेज रफ्तार ट्रेन
अभी तक मैं फाइनल ओवर के सदमे से उबर नहीं पाया हूं
पाकिस्तानी सुप्रीम कोर्ट ने शरीफ परिवार और डार की समीक्षा याचिकाएं विचारार्थ स्व...
मोदी ने रखी एम्स की आधारशिला:सर्जिकल स्ट्राइक के लिए सेना को सराहा
गुजरात दौरा छोड़कर राहुल रायबरेली में
ब्रिटेन के एडमंड ने जाेकोविच को हराया, नडाल जीते