नयी दिल्ली,

देश में इंटरनेट इस्तेमाल करने वालों की संख्या जून तक बढ़कर 50 करोड़ के पार पहुँच जायेगी। यह गत दिसंबर में 48 करोड़ 10 लाख थी।इंटरनेट एंड मोबाइल एसोसिएशन ऑफ इंडिया (आईएएमएआई) की एक रिपोर्ट में यह बात कही गयी है।

इसमें कहा गया है कि शहरी इलाकों में 64.84 प्रतिशत आबादी इंटरनेट का इस्तेमाल करती है और उनकी संख्या जून तक बढ़कर 30 करोड़ 40 लाख पर पहुँच जायेगी। ग्रामीण आबादी में 60.60 प्रतिशत इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं और दिसंबर 2017 के 18 करोड़ 60 लाख से यह संख्या बढ़कर जून तक 19 करोड़ 50 लाख पर पहुँच जायेगी।

इंटरनेट उपयोगकर्ताओं के विश्लेषण में बताया गया है कि शहरों में लोग इंटरनेट का ज्यादा इस्तेमाल ऑनलाइन संचार जैसे ईमेल आदि के लिए करते हैं। वहीं गाँवों में सर्वाधिक इस्तेमाल मनोरंजन के लिए किया जाता है। गाँवों में 58 प्रतिशत इंटरनेट उपयोगकर्ता इसका इस्तेमाल मनोरंजन के लिए, 56 प्रतिशत ऑनलाइन संचार के लिए, 49 प्रतिशत सोशल नेटवर्किंग के लिए, 35 प्रतिशत ऑनलाइन सेवाओं के लिए और 16 प्रतिशत ऑनलाइन वित्तीय लेनदेन के लिए करते हैं।

शहरों में 86 प्रतिशत उपयोगकर्ता ऑनलाइन संचार के लिए, 85 प्रतिशत मनोरंजन, 70 प्रतिशत सोशल नेटवर्किंग, 44 प्रतिशत वित्तीय लेनदेन और 35 प्रतिशत ऑनलाइन सेवाओं के लिए इंटरनेट का उपयोग करते हैं।

स्मार्टफोन/मोबाइल पर इंटरनेट इस्तेमाल के मामले में गाँव और शहरों का स्तर लगभग एक समान है। ग्रामीण इलाकों में 87 प्रतिशत और शहरी इलाकों में 86 प्रतिशत उपयोगकर्ता मोबाइल या स्मार्टफोन पर इंटरनेट चलाते हैं।

बड़े तथा छोटे शहरों में इंटरनेट इस्तेमाल के मामले में भी काफी विसंगति है। शहरी इंटरनेट उपयोगकर्ताओं में 35 प्रतिशत नौ बड़े महानगरों से हैं। छोटे महानगरों और गैर-महानगरीय शहरों में इंटरनेट इस्तेमाल करने वाली आबादी का प्रतिशत ग्रामीण भारत के औसत से भी कम है।

Related Posts: