anosनयी दिल्ली,  उच्चतम न्यायालय ने हत्या के मामले में झारखंड के आरोपी विधायक एनोस एक्का को जमानत पर रिहाई का आदेश देने से आज इन्कार कर दिया। शीर्ष अदालत ने हालांकि झारखंड उच्च न्यायालय को निर्देश दिया है कि वह एनोस एक्का की याचिका का तीन महीने में निपटारा करे।

न्यायालय ने कहा कि अगर तीन महीने में मामले का निपटारा नहीं हो सका तो एक्का उच्च न्यायालय में जमानत याचिका दाख़िल कर सकते हैं। गौरतलब है कि एक्का पर सिमडेगा में एक शिक्षक की हत्या का आरोप है। एक्का इससे पहले भी मंत्री रहते भ्रष्टाचार और आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने के मामले में गिरफ्तार हो चुके हैं।

उनके खिलाफ केंद्रीय जांच ब्यूरो और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की जांच चल रही है। ईडी ने उनकी सौ करोड़ रुपये की संपत्ति भी जब्त की है। एक्का पिछले कुछ समय से बीमार चल रहे हैं और उन्हाेंने स्वास्थ्य को आधार बनाकर जमानत याचिका दायर की थी।

Related Posts:

अति पिछड़ों के लिए उप-कोटा
नीतीश कुमार जद यू विधायक दल के नेता चुने गये
आतंकवाद से निपटने के लिये युद्ध ही एकमात्र विकल्प नहीं : सुषमा
ओवैसी का विधायक सस्पेंड, भारत माता की जय बोलने से किया इनकार
नीतीश ने शहीद जवानों के परिजनों को पांच-पांच लाख रूपये मुआवजा देने की घोषणा की
मोदी ने आपदा प्रबंधन के लिए दस सूत्री फार्मूला पेश किया