मुंबई,

सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र की दिग्गज कंपनी टाटा कंस्लटेंसी सर्विसेस (टीसीएस) ने आज उस समय नया कीर्तिमान स्थापित किया जब उसका बाजार पूंजीकरण 100 अरब डॉलर के पार पहुंच गया। 100 अरब डॉलर के बाजार पूंजीकरण में शामिल होने वाली यह दूसरी भारतीय कंपनी बन गयी है।

कंपनी के वर्ष 2017-18 की अंतिम तिमाही में बेहतर प्रदर्शन और चालू वित्त वर्ष में कारोबार में बढोतरी के अनुमान से शेयर बाजार में सुबह साढे दस बजे के आसपास लिवाली के बल पर कंपनी का बाजार पूंजीकरण बढ़कर 6.78 लाख करोड़ रुपये अर्थात करीब 102 अरब डॉलर पर पहुंच गया था। हांलाकि कारोबार बंद होने पर उसका बाजार पूंजीकरण 6,53,767 करोड़ रुपये पर रहा। कारोबार के दौरान टीसीएस का शेयर 3,557.97 रुपये के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया था।

वर्ष 2004 में शेयर बाजार में सूचीबद्ध हुई टीसीएस वर्ष 2010 में 25 अरब डॉलर की कंपनी थी और इसके बाद इसने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। वर्ष 2013 में यह 50 अरब डॉलर की कंपनी हो गयी तथा एक वर्ष पहले यह 75 अरब डॉलर की कंपनी बनी थी। उसके बाद मात्र एक वर्ष में 100 अरब डॉलर की लीग में शामिल हो गयी है।

विश्लेषकों का कहना है कि 100 अरब डॉलर बाजार पूंजीकरण के मामले में वैश्विक स्तर पर करीब 65 कंपनियां हैं और टीसीएस अब उस समूह में शामिल हो गयी है। वर्ष 2007 में रिलायंस इंडस्ट्रीज का बाजार पूंजीकरण भी 100 अरब डॉलर के पार पहुंचा था। वर्ष 2004 में टीसीएस का बाजाार पूंजीकरण 47,232 करोड़ रुपये था जो मात्र 14 वर्षाें में बढ़कर 6.78 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच गया है।

विश्लेषकों के अनुसार वर्ष 2009 में इंफोसिस देश की सबसे बड़ी आईटी कंपनी थी और उस समय टीसीएस बाजार पूंजीकरण के मामले में इंफोसिस की तुलना में डेढ़ गुनी छोटी कंपनी थी लेकिन अभी यह ढाई गुना बड़ी कंपनी बन गयी है।

Related Posts: