व्यापमं मामला: पासपोर्ट जमा करने के दिए निर्देश

  • जबलपुर हाईकोर्ट से मिली राहत

भोपाल,

व्यापमं घोटाले में जबलपुर हाईकोर्ट ने पांच आरोपियों को बड़ी राहत दी है. कोर्ट ने डीके सतपथी समेत पांच आरोपियों को जमानत दे दी है, साथ ही सभी को पासपोर्ट जमा करने के निर्देश जारी किए है.

कोर्ट ने डॉ. डीके सत्पथी, विजय रमानी, रवि सक्सेना, अशोक महासके और डॉ. अजय गोयनका को जमानत दी है. सीबीआई ने इस मामले में सत्पथी को आरोपी बनाया था. इसके साथ ही सीबीआई ने सत्पथी समेत इन सभी के खिलाफ केस दर्ज किया था.

बीते दिनों सीबीआई की विशेष अदालत ने जमानत अर्जी खारिज कर उन्हें जेल भेजने की आदेश दिए थे. डॉक्टर डीके सत्पथी व्यापमं घोटाले के समय एलएन मेडिकल कॉलेज के एडमिशन इंचार्ज थे. डॉ. सत्पथी मप्र-छग फोरेंसिक विभाग के पूर्व डारेक्टर भी रह चुके हैं.

पीएमटी 2012 फर्जीवाड़े मे सीबीआई द्वारा आरोपी बनाए गए प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों के संचालक और पदाधिकारियों की जमानत याचिकाएं हाईकोर्ट ने मंजूर कर दी है. राहत पाने वालो मे चिरायु मेडीकल कॉलेज के डॉ. अजय कुमार गोयनका, वियज कुमार रमनानी, डॉ. दिव्य किशोर सत्पथी, डॉ रवि सक्सेना और अशोक नागनथरॉव शामिल है.

पांचों याचिकाओं पर अलग अलग तथ्यों के आधार पर बहस हुई. डॉ. अजय गोयनका व डॉ. डीके सत्पथी की ओर से दलील दी गई कि चार्जशीट में कही भी दोनों के नाम सीधे एडमीशन कमेटी में नहीं थे और न ही एडमीशन में इनका कोई दखल था. सीबीआई की जांच में भी कोई सीधे साक्ष्य नहीं मिले हैं, इस आधार पर सभी पॉच आरोपियो को जमानत का लाभ दे दिया गया.

Related Posts: