2 अप्रैल से विद्यालयों में विभिन्न कार्यक्रमों के साथ हुई नए सत्र की शुरुआत

  • स्टूडेंट्स को दिए जाएंगे तनाव दूर करने के गुर

भोपाल,

स्कूलों में नवीन सत्र का पहला दिन उत्साह पूर्ण दिखाई दिया, इस अवसर पर कई स्कूलों में विशेष प्रार्थनाएं रखी गई. मॉडल हाई सेकण्ड्री स्कूल में नए सत्र के अवसर पर विद्यार्थियों को शिक्षिकाओं द्वारा टीका लगाकर स्वागत किया.

इस अवसर पर सभी विद्यार्थियों को चॉकलेट प्रदान की गई. विधालय के प्रशासन ने बताया कि कक्षा 6 से 9 तक के बच्चों के लिए बाल सभा, प्रेरक मूवी, पिकनिक आदि कार्यक्रमों के माध्यम से उनका तनाव कम करने का प्रयास किया जायेगा. उसके साथ-साथ पढ़ाई पर भी ध्यान दिया जायेगा. यानी कि खेल खेल में पढ़ाई जैसा माहौल बनाने की कोशिश करेगें.

वही 11 से 12 तक के विधार्थियों का पाठ्यक्रम सुचारू रूप से शुरू कर दिया गया है, ताकि 45 से 50 प्रतिशत तक पाठ्यक्रम मई तक खत्म हो जाये. और बच्चों को तैयारी के लिए पूरा समय मिल सके. उन्होंने कहा कि इन सभी प्रयासों से पढ़ाई को बोझलता से दूर कर रूचिकर बनायेगे.

वही कैम्पियन स्कूल के सेकेण्डरी कक्षाओं के नए शैक्षणिक सत्र की शुुरूआत बहुत ही जोश उत्साह और आदर के भाव के साथ बड़ी ही धूमधाम से शुरू की गई. सेकेण्डरी कक्षाओं के छात्र-छात्राओं के लिए नए शैक्षणिक सत्र के इस प्रथम दिवस को यादगार बनाने के उद्देश्य को सेकेण्डरी के शिक्षक-शिक्षिकाओं ने बखूबी इंतजाम किये.

इस विशेष दिन को यादगार बनाते हुए विद्यालय के सभी छात्र-छात्राओं का स्वागत विद्यालय परिसर में स्थित लोयला सभागार में सेकेण्डरी के शिक्षक-शिक्षिकाओं द्वारा बहुत ही पारंपरिक तरीके से किया गया. विधालय में नए सत्र का प्रारम्भ बच्चों के स्वागत से हुआ, उपप्राचार्य व कल्चरल कमेटी के सदस्यों के मार्गदर्शन में शिक्षक शिक्षिकाओं ने बच्चों का स्वागत पुष्प वर्षा से किया. सेकेण्डरी की शिक्षिकाओं द्वारा सुबह की प्रार्थना सभा में प्रार्थनाएँ की गई.

आज सत्र का प्रारम्भ हुआ है, बच्चों का स्वागत किया गया. और इसका प्रयास की जायेगा कि अनुकूल वातावरण बनाया जाये, ताकि बच्चे रूचि से पढ़े.
– एस. के रेनीवॉल,प्राचार्य, मॉडल हाई सेकण्ड्री स्कूल

पहले दिन की शुरूआत रीति रीवाज के साथ हुई, सर ने हम सबको चॉकलेट देकर हमारा स्वागत किया. हमारी मैथ्स, कैमिस्ट्री, फीजिक्स की क्लास लगी. यह अच्छा है,कि कोर्स पहले ही पूरी हो जायेगा. तो हमको तैयारी के लिए समय मिल जायेगा.
-आईशा प्रवीन, छात्रा

जिस तरह से क्लासेज लगी उन से बहुत कुछ सीखने को मिला, ऐसी क्लासेज से सभी बच्चे बिना तनाव के पढ़ सकेगे, और अच्छे नम्बर ला सकेगे. अगर सभी स्कूलों में ऐसी व्यवस्था हुई तो सभी बच्चे अच्छे नंबरों पास होंगे. -आयूषी, छात्रा

बहुत ही नया सा अनुभव था, पहले कभी ऐसा स्कूल में नहीं हुआ. बेहतरीन सा प्रयोग है, अब स्कूल में आने में बोरिंग नहीं लगेगा. -सचिन, छात्र

सत्र के पहले दिन छात्र-छात्राओं में दिखा उत्साह

संत हिरदाराम नगर. संत नगर के स्कूलों में नवीन सत्र का पहला दिन उत्साह पूर्ण दिखाई दिया. इस अवसर पर कई स्कूलों में विशेष प्रार्थनाएं रखी गई. सुधार सभा द्वारा संचालित साधु वासवानी स्कूल में आज नए सत्र के अवसर पर विद्यार्थियों को शिक्षिकाओं द्वारा टीका लगाकर स्वागत किया. इस अवसर पर सभी विद्यार्थियों को संतों के आशीर्वाद स्वरुप एक-एक पेन प्रदान किया गया.

शिक्षाविद् विष्णु गेहानी ने सभी विद्यार्थियों का नए सत्र के अवसर पर स्वागत किया एवं विद्यार्थियों को संबोधित किया. दीपमाला पागारानी संस्कार विद्यालय में नए सत्र विद्यार्थियों एवं अभिभावकों का स्वागत किया गया.

इस अवसर पर संस्था के सचिव बसंत चेलानी ने कहा कि आज सत्र का पहला दिन है आज हम जैसा करेगें वैसा ही हर दिन रहेगा इसलिए आप सभी पढ़ाई को बोझ न समझते हुए अपने लक्ष्य को पाने के लिए अपने कर्तव्य पर चलते रहें.

मिठ्ठी गोबिन्दराम पब्लिक स्कूल में नवीन सत्र शुभारंभ छात्रों द्वारा की गई विशेष प्रार्थना में सिद्ध भाऊ, हीरो ज्ञानचंदानी, ए.सी.साधवानी, डॉ. अजयकांत शर्मा, स्वाति राहतेकर, सभी शिक्षक-शिक्षिकाओं सहित छात्र उपस्थित थे.

सिद्ध भाऊ ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि जो छात्र प्रथम दिन से ही विद्यालय में पूरी तैयारी के साथ नियमित रूप से आएंगे, वह जीवन में, अपने लक्ष्य को निश्चित ही प्राप्त कर लेंगे. विद्यार्थी के लिए स्वस्थ रहना अत्यंत आवश्यक है.

इस अवसर पर विद्यालय प्राचार्य डॉ. अजयकांत शर्मा ने छात्रों का नवीन सत्र में नई कक्षा में स्वागत किया. इधर, नवनिध स्कूल और नवयुवक सभा द्वारा संचालित स्कूल में भी नवीन सत्र के प्रारंभ में विशेष प्रार्थना रखी गई.

बैरसिया में प्रवेश उत्सव के साथ शुरू हुए विद्यालय

बैरसिया. स्कूल शिक्षा विभाग ने दो अप्रैल सोमवार से नए स्कूली सत्र के प्रवेश उत्सव के साथ शुरुआत कराई. विकास खंड के ब्लाक शिक्षा अधिकारी केबी गढ़वाल एवं बीआरसी हरनाथ सिंह मेहर ने बताया कि विकास खंड अंतर्गत आने वाले 7 हायर सेकेंडरी एव 19 हाई स्कूल सहित 144 मिडिल व 383 प्रायमरी शालाओ में सोमवार को एक साथ स्कूल प्रवेश उत्सव मनाया गया और बाल मेला एवं बाल सभाएं आयोजित कर नए सत्र का शुभारंभ किया.

स्कूल प्रवेश उत्सव के निरीक्षण में बैरसिया आए डीपीसी शिरोमणी दुबे ने बताया कि 2 से 30 अप्रेल तक स्कूलों में हिंदी एवं गणित विषय पर पढ़ाई इस तरह छात्र छात्रों को कराना है कि उन्हें ऐसा महसूस न हो कि हम स्कूल में हैं या फिर अपने घर में जहां पर डीपीसी ने नजीराबाद में स्कूलों के निरीक्षण के बाद 4 बजे बीआरसी कार्यालय में नए शिक्षा सत्र के सम्बंध में समस्त जनशिक्षकों एव बीएसी की बैठक भी ली.

Related Posts: