नयी दिल्ली,

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की दसवीं की गणित परीक्षा के पेपर फिर से नहीं होंगे।यह जानकारी मानव संसाधन विकास मंत्रालय में स्कूली शिक्षा के सचिव अनिल स्वरूप ने आज ट्वीट कर दी।

श्री स्वरूप ने बताया कि दसवीं के गणित पेपर की परीक्षा दिल्ली राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र और हरियाणा में फिर से आयोजित नहीं की जाएगी।

गौरतलब है कि गणित पेपर के लीक होने की खबरें पिछले दिनों अखबाराें में आयी थी तब सीबीएसई ने कहा था कि वह इन खबरों की जांच पड़ताल करने के बाद ही इस संबंध में कोई निर्णय लेगा।

उन्होंने ट्वीट में कहा है कि प्रारंभिक जांच पड़ताल और छात्रों के हितों की रक्षा को ध्यान में रखते हुए गणित का पेपर दुबारा न कराने का निर्णय लिया गया है।

पिछले दिनों सीबीएसई के 12वीं के अर्थशास्त्र के पर्चे लीक होने के सनसनीखेज मामले में दो शिक्षकों तथा ट्यूटर को गिरफ्तार किया गया था और सीबीएसई के अधिकारी के. एस. राणा को निलंबित किया गया था। मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने पर्चे लीक होने के मामले की जांच के लिए एक आंतरिक जांच समिति भी गठित की है।

दसवीं की परीक्षा आयोजित किए जाने के बारे में सीबीएसई की एक नकली प्रेस विज्ञप्ति भी सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी जिसके कारण छात्रों और अभिभावकों में भ्रम की स्थिति पैदा हो गयी थी।

सीबीएसई की प्रवक्ता रमा शर्मा ने कल देर रात इस प्रेस विज्ञप्ति को फर्जी बताया था। यह प्रेस विज्ञप्ति 30 मार्च को सीबीएसई के लेटर हेड पर जारी की गयी थी जिसमें दसवीं के गणित की परीक्षा 30 अप्रैल को होने की बात कही गयी थी। श्रीमती शर्मा ने इस विज्ञप्ति का खंडन किया है।