दर्दनाक हादसे में 3 साल के मासूम और मां की मौत

भोपाल,

राजधानी की सबसे व्यस्त कही जाने वाली करोंद से भोपाल टाकिज रोड 2018 दो माह में ही तीन को निगल गई. थाना निशातपुरा अंतर्गत देवकीनगर दुकान के पास एक तेज रफतार ट्रक ने 3 साल के मासूम और उसकी मां को इतनी बेहरहमी से कुचल दिया कि देखने वालों के भी रौंगटे खडे हो गए.

इससे पूर्व पिछले माह बंधन शादी हॉल के सामने तेज रफतार गैस से भरे ट्रक ने 17 साल के मोहित शर्मा को अपनी चपेट में ले लिया था. पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार फरियादी भैयालाल पाल उम्र 45 वर्ष निवासी अर्जुन नगर रायसेन रोड भोपाल ने बताया कि वह अपनी मोटरसाईकिल क्रमंाक एम पी 04 एन जेड 7226 में अपनी गुरू बहन रंजीता विश्वकर्मा उम्र 28 वर्ष एवं उसके 3 साल के मासूल तनिष्क विश्वकर्मा को पीपल चौराहा करोंद से उसने घर नारियल खेड़ा स्थित शारदा नगर ले जा रहा था.

उसी वक्त देवकीनगर मंडी के पास स्थित दुकान के सामने पीछे से आ रहे चालक द्वारा लापरवाही से तेज रफ्तार चलाते हुए ट्रक क्रमंाक आरजे जीए 8201 ने रात्रि लगभग 11.15 पर ने जोरदार टक्कर मारी.

जिससे में रोड की दूसरी ओर गिर गया. इसमें मुझे हाथ, पैर और शर में चोटें आयी तथा मेरी बहन और उसका बच्चे के उपर से ट्रक के दोनों पहिए गुजर जाने के कारण मौके पर ही मौत हो गई. आसपास के लोगों ने पुलिस को फोन कर 108 की मदद से उन्हें और मुझे हमीदिया पहुंचाया. प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार हादसे इतना भयानक था कि देखने वालों के आंसू आ गए. पुलिस ने मामला दर्ज कर ट्रक को जप्त कर लिया है. मौके से चालक और क्लीनर दोनों ही फरार हो गए.

लगा रहता है शराबियों का मजमा

दुकान हाउसिंग बोर्ड के सामने रोजाना देशी शराब की दुकान के कारण सुबह 11 बजे से रात्रि 3 बजे तक शराबियों का मजमा लगा रहता है. जो आएदिन कभी रोड पर ही बैठ जाते हैं तो कभी उनके वाहन रोड पर खड़े रहते हैं. इस कारण आए दिन यहां कहीं छोटे मोटे तो कहीं बड़े हादसे होते हैं. दुकान संचालक रात्रि में अंदर से शराब बेचते हैं.

विगत कुछ दिनों में करोंद से लेकर निशातपुरा फाटक और मोतीलागल नगर से लेकर बेस्टप्राइज तक हादसें में वृध्दी हुई है. इन हादसों को कम करने ट्राफिक पुलिस और हमारे द्वारा ज्वाइंट आपरेशन चलाने विचार किया गया है. जिससे हादसों मेंं कमी आए. साथ ही क्षेत्र में ऐसे हादसों के पाइंटो को चिन्हित किया जाएगा.
-लोकेश सिन्हा, सीएसपी निशातपुरा

करोंद चौराहा और दुकान पर स्थित शराब दुकानें आखिर सरकार के आदेशों के बाद भी अंदर क्यों नहीं स्थित की जा रही है. जबकि निरंतर इन दुकानों में शराबियों के वाहन और उनके जमावडे के कारण हादसें हो रहे हैं. साथ ही माताओं-बहनों का निकलना मुश्किल हुआं है. प्रशासन को इन्हें अंदर भेजने सख्त कदम उठाने चाहिए. यदि ऐसे नहीं होता है तो जिला कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग प्रशासन और सरकार के खिलाफ उग्र आंदोलन करेगा.
-सैयद उस्मान अली, जिला कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग अध्यक्ष

Related Posts: