modiनई दिल्ली, 17 फरवरी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज ईसाई धर्म के एक कार्यक्रम में कहा है कि देश में सभी धर्मों का सम्मान होना चाहिए. मोदी ने कहा कि धर्म के नाम पर हिंसा बर्दाश्त नहीं की जाएगी और धार्मिक हिंसा करने वालों पर कार्रवाई होगी. दिल्ली के विज्ञान भवन में दो ईसाई संतों के सम्मान कार्यक्रम में बोलते हुए पीएम ने कहा कि हमारा संविधान धर्म के आधार पर हिंसा की कतई इजाजत नहीं देता.

मोदी ने तमाम धर्म के लोगों से शांति और सद्भाव की भी अपील की. दरअसल हाल के दिनों में चर्चों पर लगातार हमले हुए हैं जिनकी हर ओर कड़ी निंदा की गई. यहां तक कि अमेरिकी राष्ट्रपति ने भी अपने बयान में इसका जिक्र किया था. पीएम मोदी के इस बयान को उसी संदर्भ में देखा जा रहा है. गौरतलब है कि पिछले कुछ समय में दिल्ली में चर्चों पर हमले के मामले सामने आए हैं. इसे लेकर तमाम धार्मिक संगठनों और विपक्षी दल सरकार पर हमलावर हैं. हाल ही में एक ईसाई स्कूल में चोरी की गई जिस पर पीएम मोदी ने पुलिस कमिश्नर को भी तलब कर लिया.

उधर, आज अमेरिका के एक मंदिर पर हमला किया गया है. जिसके बाद कई राजनीतिक पार्टियों ने केंद्र सरकार पर भी हमला बोलना शुरू कर दिया है. कांग्रेस नेता राशिद अल्वी ने तो यहां तक कह दिया कि दिल्ली में चर्चों पर हुए हमले का ये रिएक्शन है.

Related Posts: