जिला खनिज अधिकारी का छलका दर्द

नवभारत न्यूज इटारसी/होशंगाबाद,

होशंगाबाद जिले में नर्मदा और तवा नदी पर रेत माफियाओं का तांडव अभी भी जारी है. ये नदियों को छलनी करने पर उतारू हैं. सरकार के निर्देशों को भी इन्होंने ताक पर रख दिया है. सरकार के मशीनों से अवैध उत्खनन पर रोक के बावजूद, यह कम तो हुआ है, लेकिन इस पर प्रभावी रोक नहीं लगी है.

होशंगाबाद जिले में बनखेड़ी से सिवनी मालवा तक हर नदी-नालों पर रेत, बजरी का अवैध उत्खनन जारी है, अलबत्ता सबसे अधिक नजरें नर्मदा और तवा पर ही रहती हैं. नर्मदा की खदानें और तवा की रेत खदानों पर हर वक्त सैंकड़ों की संख्या में डंपरों से रेत का परिवहन हो रहा है।

पूछने पर खनिज अधिकारी का रेत के अवैध उत्खनन मामले में रेत खदानें छीन लिए जाने का दर्द साफ झलक रहा था. अभी भले ही सरकार ने रेत खदानें पंचायत के जिम्मे कर दी हैं, लेकिन पिछले वर्षों में भी रेत माफियाओं पर कार्रवाई के नाम पर खनिज विभाग कहीं तस्वीर में दिखाई नहीं देता था, अलबत्ता राजस्व विभाग और पुलिस सबसे ज्यादा कार्रवाई करते हैं, फिर पकड़े गए डंपर खनिज विभाग के हवाले कर दिए जाते हैं.

बीते एक वर्ष में तवा की मरोड़ा, ग्वाड़ी, होरियापीपर रेत खदानों पर एसडीएम, तहसीलदार ने पुलिस के साथ मिलकर दो दर्जन से अधिक बार छापामार कार्रवाई करके दो सैंकड़ा से अधिक डंपर जब्त करके खनिज विभाग को दिए हैं और फिर विभाग ने उन पर छोटा प्रकरण बनाकर महज कार्रवाई की खानापूर्ति ही की हैं.

इधर जिला खनिज अधिकारी शशांक शुक्ला का दर्द भी अवैध उत्खनन मामले में छलक उठा. पूछने पर बोले, हमसे तो रेत खदानें छीनकर पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग को दे दी हैं. उन्होंने बताया कि पिछले एक वर्ष में विभाग ने राजस्व और पुलिस के साथ मिलकर खनिज के अवैध परिवहन करने वाले लगभग 865 वाहनों पर विधिसम्मत कार्रवाई की है.

अब रेत का अवैध उत्खनन हमारे पास से लेकर सरकार ने जिला पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग को दे दिया है। हमने तो इस तरफ ध्यान ही देना बंद कर दिया है. हमारे पास जिले में दो क्रेशर, तीन चिमनी भट्टे और तीन मुरम की खदानें ही बची हैं.
-शशांक शुक्ला,
 जिला खनिज अधिकारी

मां नर्मदा को मध्यप्रदेश की सरकार जीवनरेखा मानती है, यहां अवैध उत्खनन नहीं होना चाहिए. सरकार अपना काम कर रही है, व्यापक पैमाने पर जनजागरण की भी आवश्यकता है, लोगों को भी जिम्मेदारी को समझना होगा. सरकार अपनी जिम्मेदारी उठाएगी.
-राकेश सिंह, सांसद एवं प्रदेश भाजपा अध्यक्ष

Related Posts: