होशंगाबाद,

होशंगाबाद के पावन नर्मदा तट सेठानी घाट में प्रतिवर्ष की तरह इस वर्ष भी पूरे भक्तिभाव से मां नर्मदा जयंती महोत्सव का भव्य आयोजन किया गया. प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं उनकी धर्म पत्नी श्रीमती साधना सिंह, म.प्र.विधानसभा के अध्यक्ष डॉ सीताशरण शर्मा, वन मंत्री गौरीशंकर शेजवार, सोहागपुर विधायक विजय पाल सिंह, पूर्व मंत्री धुकर राव हर्णे ने भी मां नर्मदा की पूजा अर्चना की. इस अवसर पर नगरपालिका अध्यक्ष अखिलेश खंडेलवाल, म.प्र. खनिज विकास निगम के अध्यक्ष शिव चौबे , म.प्र. बेयर हाउसिंग कारर्पोरेशन के अध्यक्ष राजेन्द्र सिंह, सहित अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे.

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सेठानी घाट में कन्या पूजन कर तथा तट पर पूजन अर्चन कर माँ नर्मदा का अभिषेक किया. इस अवसर पर नर्मदाष्टक का पाठ किया गया तथा नर्मदा जी की आरती गाई गई.

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने उपस्थित लोगो को संबोधित करते हुए कहा कि आज किसी के स्वागत करने की जरूरत नहीं है आज आवश्यकता है कि हम मॉ नर्मदा को प्रणाम करे क्योकि माँ नर्मदा से बड़ा कोई नही है.

माँ नर्मदा मध्यप्रदेश को जीवन देने वाली नदी हैं. माँ नर्मदा मध्यप्रदेश का भविष्य है. एक सेवक के नाते मेरी प्रार्थना है कि प्रदेश के साढ़े सात करोड़ लोगो को माँ नर्मदा सुखी रखे. सभी को सम्मान एवं सद्धबुद्धि देवे.

मुख्यमंत्री ने कहा कि जब उन्होंने नर्मदा सेवा यात्रा एवं एकात्म यात्रा निकाली तो लोगो ने कहा कि यह सब करना मुख्यमंत्री का कार्य नही है, लेकिन हमने कहा कि हम बाकी कार्य के अलावा यह कार्य भी करेंगे. मुख्यमंत्री ने जिलेवासियों का आभार व्यक्त किया कि उन्होंने एकात्म यात्रा को इतना सफल बनाया.

श्री चौहान ने कहा कि आदि गुरू शंकराचार्य का अद्धैतवाद दर्शन अदभुत है. इस दर्शन से हर प्रकार के आंतकवाद, नस्लवाद का जबाव दिया जा सकता है. मुख्यमंत्री ने कहा कि एक ही चैतना सभी मनुष्यों में समान है कोई छोटा या बड़ा नहीं है.