राज्यपाल, मुख्यमंत्री ने किया शोक व्यक्त

भोपाल,

वरिष्ठ कांग्रेस नेता एवं मध्यप्रदेश विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष श्रीनिवास तिवारी का आज दिल्ली के एक अस्पताल में निधन हो गया. वे 93 वर्ष के थे. उन्होंने अपराह्न लगभग 4 बजे अंतिम सांस ली.

तिवारी को सांस लेने में तकलीफ और निमोनिया होने पर 16 जनवरी को उनके गृह नगर रीवा के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था. इसके बाद उन्हें बेहतर इलाज के लिये एयर एम्बुलेंस की मदद से दिल्ली ले जाया गया था. तिवारी को निजी अस्पताल की आईसीयू में रखा गया था.

उनके स्वास्थ्य में थोड़ा सुधार भी दिखाई दिया था, लेकिन अपराह्न 4 बजे तबीयत फिर ज्यादा बिगड़ गई और उनका निधन हो गया. तिवारी मध्यप्रदेश के विन्ध्य अंचल के कद्दावर कांग्रेस नेता थे और वर्ष 1993 से 2003 तक राज्य विधानसभा के अध्यक्ष पद पर विराजमान रहे.

तिवारी ने विद्यार्थी जीवन में स्वतंत्रता संग्राम आंदोलन में हिस्सा लिया. उन्होंने विन्ध्य प्रदेश में समाजवादी पार्टी का गठन किया और 1952 में विन्ध्य प्रदेश विधानसभा में सदस्य निर्वाचित हुए.

1972 में वे समाजवादी पार्टी से मध्यप्रदेश विधानसभा के सदस्य बने. श्री तिवारी 1971 में कांग्रेस में शामिल हुए. सन् 1977, 1980 एवं 1990 में वे फिर विधायक बने. 1980 में वे अर्जुन सिंह के मंत्रिमंडल में लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री रहे.

वर्ष 1990 से 1992 तक वे मध्य प्रदेश विधानसभा में उपाध्यक्ष रहे. तिवारी ने 24 अक्टूबर 1993 से 12 दिसंबर 2003 तक लगातार दो बार विधासनभा अध्यक्ष का पद संभाला.

अंतिम संस्कार 21 को

श्रीनिवास तिवारी का अंतिम संस्कार 21 जनवरी को रीवा जिले स्थित उनके गृहग्राम तिवनी में किया जाएगा. प्रदेश कांग्रेस द्वारा आज यहां जारी विज्ञप्ति के अनुसार संगठन प्रभारी महामंत्री द्विवेदी ने बताया कि तिवारी के पार्थिव शरीर को 20 जनवरी को सुबह 8 बजे दिल्ली के एस्कार्ट अस्पताल से एयर एंबुलेंस से सतना लाया जायेगा.

वहां से सडक़ मार्ग से उनकी पार्थिव देह को रीवा ले जाया जायेगा और उनके निवास पर जनता के दर्शनार्थ रखा जायेगा. 21 जनवरी को सुबह 10 बजे तिवनी में उनका अंतिम संस्कार होगा.

निधन पर राज्यपाल ओपी कोहली, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, विधानसभा अध्यक्ष डॉ सीतासरन शर्मा, उपाध्यक्ष डॉ राजेंद्र कुमार सिंह, संसदीय कार्य मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा, विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह सहित कांग्रेस और भाजपा नेताओं ने शोक व्यक्त किया है. यहां प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में उन्हें श्रद्धांजलि दी गई.

Related Posts: