दफा 182 के तहत प्रकरण दर्ज करने की मांग

भोपाल,20 मई,नभासं. नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह के खिलाफ झूठी सूचनाओं के आधार पर शिकायत दर्ज कराने का प्रकरण दर्ज कराने खातिर प्रदेश भाजपा मंत्री शरदेंदु तिवारी  ने श्यामला हिल्स थाने में आवेदन दिया है.

अजय सिंह ने गत 9 मई को इसी थाने में पेश शिकायत में आरोप लगाया था कि प्रदेश भाजपा अध्यक्ष प्रभात झा ने अनुसूचित जनजाति आयोग में दी गई शिकायत में सिंह और उनके परिवार पर आदिवासियों की जमीन पर कब्जे के आरोप लगाने में कूटरचित दस्तावेज पेश किए हैं. तिवारी ने थाने में दी शिकायत में कहा है कि झा ने जो दस्तावेज दिए थे, वे सूचना के अधिकार के तहत मिले और सत्य प्रतिलिपि थे.

तिवारी ने थाने में दिए आवेदन में अजय सिंह के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की दफा 182 के तहत प्रकरण दर्ज करने की मांग की है. क्योंकि सिंह ने थाने और आयोग में जो आरोप पेश किए, वे सही नहीं हैं. सिंह यह जानते थे कि प्रदेश भाजपा अध्यक्ष प्रभात झा ने जो दस्तावेज पेश किए वे 9 दिसंबर 2011 की स्थिति के अनुसार और सत्य थे. तहसीलदार ने खसरों की जानकारी 23 फरवरी 2012 को अपडेट की है. इसमें भी जिन खसरों पर सिंह परिवार का कब्जा होने का आरोप लगाया वे आदिवासियों के नाम ही दर्ज हैं.तिवारी ने सूचना के अधिकार के तहत तहसीलदार चुरहट से प्राप्त पत्र की प्रति भी थाने में पेश की है, जिसमें बताया गया है कि ग्राम साडा के खसरे 23 फरवरी 2012 को अपडेट किए गए हैं.
नेता प्रतिपक्ष और उनके परिवार पर आदिवासियों की जमीन पर कब्जे लगाने को लेकर मचा राजनीतिक घमासान गहरा रहा है.

प्रदेश भाजपा मंत्री शरदेंदु तिवारी को पेश शिकायत से भी स्पष्ट है कि खसरे 23 फरवरी 2012 को अपडेट हो चुके थे, लेकिन झा ने अजजा आयोग में 12 अप्रैल 2012 को जो दस्तावेज पेश किए वे 9 दिसंबर 2011 को हासिल किए गए थे.झा ने अपडेट दस्तावेज हासिल कर पेश क्यों नहीं किए? गौरतलब है कि झा ने लोकायुक्त में भी प्रकरण दर्ज कराने का एलान किया था, उस पर अब तक अमल नहीं किया है.जबकि अजाजजा आयोग ने भी एक माह की घोषित अवधि बीतने पर भी जांच रिपोर्ट शासन को नहीं सौंपी है.

Related Posts: