नहीं मिल रहा रहवासियों को पानी

नवभारत न्यूज भोपाल,

गर्मी में शहर में जलसंकट बढ़ाने में शहर की पाइप लाइनों में लीकेज की खामियां महत्वपूर्ण बताई जा रही है. वैसे शहर में पानी का भंडारण तो पयाप्त है मगर जलवितरण प्रणाली की खामियों के चलते अनेक इलाकों में आए दिन जल संकट गहराता जा रहा है.

गर्मी आते ही शहर में वर्षो पुरानी कोलार की जर्जर लाइनों के लीकेज इन दिनों आमजनों की परेशानी बन रहे है. इसके चलते कई इलाकों में कम दाव से जलापूर्ति हो रही है. इससे लोगों को पर्याप्त पानी नही मिल रहा है.इस दौरान निगम प्रशासन ने नियमित जलापूर्ति के समय में भी कटौती कर दी है.

इसके चलते लोगों को पर्याप्त पानी नही मिल पा रहा है. पहले जहां आधा घंटा पानी सप्लाई होता था वहां अब मात्र बीस मिनट ही पानी सप्लाई किया जा रहा है. यही स्थिति नर्मदा जल परियोजना के वितरण प्रणाली में भी है. कई स्थानों पर कोलार व नर्मदा जल परियोजना की लाइनों के लीकेज के कारण पुनाने व नये शहर की कई बस्तियों में सीवेज मिक्स पानी सप्लाई हो रहा है. इस आशय की शिकायत पिछले दिनों अनेक कांग्रेसी पार्षद भी कर चुके है.

लीकेज नहीं सुधर सके

कोलार परियोजना की मुख्य ग्रेविटी लाइन में एकांत पार्क के पास स्थित लीकेज में अब तक नही सुधार हो पाया है.

इसके चलते यहां रोजना लाखों गैलन पानी बरर्बाद हो रहा है. यही स्थिति शाहपुरा, भारत टाकीज के पास, एमपी नगर में एक स्थान पर भी है. जहां लीकेज मरम्मत के बाद भी कोलार लाइन से पानी का रिसाव निरंतर हो रहा है.

जबकि जलकार्य अमले ने यहां हाल ही में सुधार कार्य भी करवाया. बावजूद लीकेज तकनीकी खामियों के चलते फिर से हो गये. बताया जाता है कि कोलार परियोजना की लाइने जर्जर होने के कारण ही यह समस्या बार-बार हो रही है. जबकि एकांत पार्क के पास वाल्व बदलने के बाद भी रिसाव नही रूका.

Related Posts: