इस्लामाबाद

पाकिस्तान ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की ओर से सैन्य सहायता पर रोक लगाने के बावजूद उसके (अमेरिका के) साथ सकारात्मक रिश्ते जारी रखने पर बल दिया है।

पाकिस्तान के रक्षा मंत्री खुर्रम दस्तगीर खान ने सीमा पार हमलों में शामिल आतंकवादियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई नहीं करने की अमेरिकी आरोपों को भी साफ खारिज कर दिया।

श्री खान ने न्यूयार्क स्थित अंतरराष्ट्रीय संवाद समिति को दिये इंटरव्यूह में कहा कि पाकिस्तान आतंकवादियों तथा उग्रवादियों के खिलाफ कार्रवाई करने को लेकर पूरीतरह प्रतिबद्ध है तथा किसी भी आतंकी समूह को सुरक्षित शरणस्थली नहीं मुहैया करायी गयी है।उन्होंने दावा किया कि आतंकी विरोधी अभियानों के चलते देश की घरेलु सुरक्षा में भी सुधार हुयी है।

रेडियो पाकिस्तान में कल प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक श्री खान ने कहा कि अफगानिस्तान में अपनी विफलता छुपाने के लिए सारा दोष पाकिस्तान पर मढ़ रही है।उन्होंने कहा कि पाकिस्तान अफगानिस्तान में शांति बहाल करना चाहता है ताकि क्षेत्रीय संपर्क के आर्थिक लाभों का अधिक से अधिक फायदा उठाया जा सके।