सीजन का सबसे गर्म दिन रहा बुधवार, शाम को हुई बूदाबांदी

नवभारत न्यूज सागर,

गर्मी के मौसम में आज पारा 43 डिसे पार कर गया। दोपहर में आसमान से जैसे आग बरस रही थी। वहीं जिले के सानौधा थाना क्षेत्र में एक लापता युवक की लू लगने से मौत हो गई।

गर्मी के मौसम में बीते सप्ताह सेे लगातार पारा 42 डिसे चल रहा है। दोपहर में आसमान से सूरज की तीखी किरणों से बचने लोग तरह तरह के उपाय कर रहे है। आज बुधवार को अधिकतम पारा 43 डिसे पार कर गया। यह इस गर्मी के सीजन का सबसे गर्म दिन रहा।

बुधवार को सुबह 10 बजे से ही सूर्य की किरणे आग बरसाती महसूस हो रही थी। दोपहर में शहर के बाजार में तीखी गर्मी और धूप के चलते सन्नाटज्ञ सा पसरा रहा। मौसम विभाग के अनुसार आज का अधिकतम तापमान 43.0 रहा। जो सामान्य से 3 अधिक था।

वहीं बीती रात का न्यूनतम तापमान 25.6 डिसे रहा । जो सामान्य था। गर्मी के इस सीजन में जिले में लू लगने से मौत की पहली खबर आज सामने आई है। सानौधा थाना प्रभारी महेंद्र सिंह जगैत ने बताया कि बंडा थाना क्षेत्र के ग्राम बयालई निवासी राजेश पिता जीवन अहिरवार 40 वर्ष गत 30 अपै्रल को अपने घर से निकला था। जो लापता हो गया।

थाना प्रभारी श्री जगैत ने बताया कि क्षेत्र के ग्राम बेरखेडी के नजदीक मंगलवार की शाम एक पेड के नीचे राजेश मृत अवस्था में मिला। श्री जगैत ने बताया कि शार्ट पीएम रिपोर्ट में सामने आया है कि राजेश की मौत आत्याधिक गर्मी में लू लगने से के कारण हुई है। इधर भीषण गर्मी के चलते सानौधा थाना क्षेत्र में ही कस्बा के नजदीक बनाए गए गेहू समर्थन मूल्य खरीदी केंद्र से सटे हुए खेत की नरवाई में आग लग गई।

बढ़ी उमस

सांची नगर मे तापमान 42 डिग्री तक पहुंच गया उसी पर आसमान मे बादल छा गये बूंदाबांदी ने तापमान को और बढ़ा दिया. इस बढ़े हुये तापमान के पश्चात बिजली गुल रही. इन दिनों प्रतिदिन पारा बढता ही जा रहा है.

नगर का तापमान 42 डिग्री के ऊपर पहुंच गया. इसी बढ़े तापमान में आकाश में छाये बादलो ने और बृद्धि कर दी. लोगों की बैचेनी बढ गई जब आकाश से बूदाबांदी की बौछार पडना शुरू हो गई. इसी बढे तापमान से लोग वैसे ही परेशान रहे. वहीं आये दिन बिजली लोगों को परेशानी खडी करने आमदा हो गई परन्तु बिजली विभाग के लापरवाही पूर्ण ढर्रे के चलते सुविधा से वंचित हो गए .

बिजली के तारों में तो करंट खत्म हो गया. परन्तु बिलों के कई गुना बढे करंट के झटके नगर सहित ग्रामीण अंचल के लोगों को लग रहा है जबकि इस प्रसिद्ध ऐतिहासिक स्थल की ये दशा है तो ग्रामीण क्षेत्रों की दशा का आसानी से अंदाजा लगाया जा सकता है. एक ओर सरकार सभी घरो मे बिजली पहुंचाने का डंका पीट रही है वहीं दूसरी ओर बिजली होते हुये भी लापरवाह बिजली अधिकारियों के मनमानी पूर्ण ढर्रे से परेशान हो उठे हैं.

Related Posts: