नयी दिल्ली,

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडेकर ने दूसरे स्मार्ट इंडिया हैकेथान (साफ्टवेयर संस्करण) -2018 में हिस्सा ले रहे विद्यार्थियों से परीक्षाओं को लीक प्रूफ बनाने का ‘सॉफ्टवेयर’ तैयार करने को कहा।

श्री जावडेकर ने आज से यहां शुरू हुए इस हैकेथान के दो दिवसीय ग्रैंड फिनाले को लांच करने के बाद दिल्ली प्रबंधन संस्थान के प्रतिभागी विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि हालांकि पेपर लीक को रोकने का सोल्यूशन तैयार करना इस वर्ष के हैकेथान का विषय नहीं है लेकिन विद्यार्थियों को इसे चुनौती के रूप में स्वीकार करना चाहिए । छात्र यह हैकेथान समाप्त होने के बाद ऐसा सोल्यूशन तैयार करें जिससे परीक्षाओं को लीक प्रूफ बनाया जा सके ।

उन्होंने कहा,‘ हम सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में सुपरपावर हैं लेकिन गुगल ,फेसबुक , व्हाट्सएप और ट्विटर आदि को भारत में नहीं तैयार किया गया। साथ ही उन्होंने कहा कि इन सभी नवाचारों के पीछे दिमाग भारतीयों का ही है। उन्होंने कहा कि इस तरह के कई डिजिटल नवाचार हैं जिनसे धन कमाया जा सकता है । भारत में भी इस तरह के नवाचार विकसित किये जाने चाहिए ।

श्री जावडेकर ने बताया कि हैकेथान में 1200 से ज्यादा कालेजों के रिकार्ड संख्या में करीब एक लाख विद्यार्थी हिस्सा ले रहे हैं।

 

Related Posts: