मामला शाजापुर कोतवाली का, एसपी से थाना प्रभारी की शिकायत,

‘नए थाना प्रभारी का वसूली अभियान’

शाजापुर, नवप्र.

शाजापुर कोतवाली में नए थाना प्रभारी की तैनाती को अभी जुम्मे-जुम्मे सात दिन भी नहीं हुए, लेकिन आते ही उन्होंने वसूली अभियान शुरू कर दिया है. उनकी कार्यप्रणाली को देखकर ऐसा लग रहा है कि वे जल्द से जल्द मोटी वसूली कर निकलना चाहते हैं.

या फिर यूं कहें कि वे ऊपर जो देकर आए हैं, उसे जल्दी निकालना चाहते हैं. इस संबंध में एसपी को पैसे लेने की शिकायत कुछ मजदूरों ने की है.

हुआ यूं कि बीती रात कुछ हम्माल काम करके घर जा रहे थे, तभी थाना प्रभारी राकेश कुमार नैन ने कुछ हम्मालों को पकड़ा और उन्हें आरोपी बताते हुए उन पर प्रकरण दर्ज करने की धौंस दी और कहा कि अगर प्रकरण दर्ज नहीं कराना है, तो पैसे ले आओ. हम्माल के परिजनों ने आनन-फानन में पैसे की व्यवस्था की और हम्मालों को छुड़वाया.

इस संबंध में सोमवार को करीब दो दर्जन हम्मालों ने पुलिस अधीक्षक शैलेंद्र सिंह चौहान को थाना प्रभारी राकेश कुमार नैन की पैसे मांगने की लिखित शिकायत की है. वहीं दूसरी ओर थाना प्रभारी ने कुछ लोगों को बुलाकर अपनी बंदी बढ़ाने की भी बात की थी.

जिसकी शिकायत भी पुलिस कप्तान तक पहुंच गई है. वहीं दूसरी ओर आते ही उन्होंने सिंघम बनने के चक्कर में एक निर्दोष छात्र की छात्रा से छेड़छाड़ के मामले में सरेआम पिटाई कर दी.

जबकि उस छात्रा ने युवक द्वारा छेड़छाड़ नहीं करने की बात कही थी, लेकिन थाना प्रभारी नैन इतनी जल्दी में थे कि उन्होंने एक निर्दोष छात्र के खिलाफ ही प्रकरण दर्ज करा दिया.

7 हजार रुपए लेकर छोड़ा

जानकारी के अनुसार 25 नवंबर की रात को हकीम खान, वकील खान, शमशुद्दीन खान, समद खान, अजीज खान को पुलिस पूछताछ के लिए शाजापुर कोतवाली लेकर आए. रात करीब 10 बजे उन्हें वापस छोड़ दिया और 26 नवंबर को सुबह फिर कोतवाली बुलाया गया.

दोपहर तक इनसे पूछताछ नहीं हुई. फिर उक्त लोगों को प्रकरण दर्ज करने की धमकी देकर 7 हजार रुपए ले लिए और छोड़ा. ऐसी एक शिकायत हकीम, वकील, अजीज आदि ने पुलिस अधीक्षक को लिखित में की है.

 

Related Posts: