रायपुर,

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर पंचायत एवं निकायों के जनप्रतिनिधियों को कमजोर करने के लिए उन पर..सच्चा आक्रामण..करने काआरोप लगाते हुए कहा कि प्रधानमंत्री की बजाय पंचायत एवं निकाय चुनाव लड़ने के लिए शैक्षणिक योग्यता तय की जा रही है।

श्री गांधी ने आज यहां चार राज्यों के पंचायत एवं निकाय प्रतिनिधियों के जन स्वराज सम्मेलन में पंचायत प्रतिनिधियों के प्रश्नों का उत्तर देते हुए कहा कि..सुप्रीम कोर्ट पर नही आप पर मोदी सरकार सच्चा आक्रामण कर रही है।हरियाणा की भाजपा सरकार ने तय कर दिया आठवीं दसवीं पास ही पंचायत चुनाव लड़ सकते है।आखिर क्यों।सासंद,विधायक एवं प्रधानमंत्री की शैक्षणिक योग्यता तो तय नही की।

उन्होने कहा कि पहले यह तो तय करिए कि आठवीं दसवीं पास नही है तो प्रधानमंत्री नही बनने देगे फिर सासंद विधायक और आखिरी में पंचायतों का नम्बर आता है।उन्होने कहा कि पंचायत एवं निकायों के जनप्रतिनिधियों को कमजोर करने की कोशिश हो रही है।उनकी शक्ति नौकरशाह चाहता है। मुख्यमंत्री,नौकरशाह एवं उनके उद्योगपति मित्र छीनना चाहते है।

धारा 40 का उपयोग कर चुने गए पंचायत प्रतिनिधियों को हटाने के प्रकरणों के बारे में पूछे जाने पर कहा कि कांग्रेस शासत राज्यों में इसका उपय़ोग नही हो यह सुनिश्चित करेंगे। उन्होने कहा कि सासंद.विधायक और प्रधानमंत्री को हटाने का प्रावधान पहले हो।उन्होने कहा कि उनकी सरकार में पंचायत प्रतिनिधियों को ज्यादा से ज्यादा अधिकार मिलेगा और उनकी बात सुनकर कानून एवं योजनाएं बनेंगी,जो मुख्यमंत्री काम नही करेंगा उसे बदल देंगे।