पीएस की हिदायत, अब न हो दुर्घटना

नवभारत न्यूज भोपाल,

भानपुर खंती पर सोमवार रात लगी आग और उसके बाद फैले जहरीले धुएं से हुये प्रदूषण पर बुधवार को प्रमुख सचिव पर्यावरण एवं सह अध्यक्ष प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड अनुपम राजन ने अमले के साथ औचक निरीक्षण किया. निरीक्षण के दौरान राजन ने कचरा भंडारण क्षेत्र के चारों ओर तार फेंङ्क्षसग अथवा बाउंड्री वॉल कराये जाने तथा जगह की निगरानी के लिये कैमरे लगाये जाने के निर्देश दिये.

राजन द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुये फायर ब्रिगेड की दमकलों द्वारा लगातार पानी डालने को कहा गया. क्षेत्रीय अधिकारी मध्यप्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा आयुक्त नगर निगम को घटना के संबंध में कारण बताओ नोटिस भी जारी किया गया है.

भानपुर खंती में आग लगने और उससे वायु प्रदूषण की शिकायत पर प्रमुख सचिव अनुपम राजन के साथ बोर्ड के सदस्य सचिव ए.ए. मिश्रा, क्षेत्रीय अधिकारी भोपाल पी.एस. बुंदेला, नगर निगम स्वास्थ्य अधिकारी राकेश शर्मा एवं अन्य अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित थे.

ज्ञात हो कि सोमवार रात भानपुर खंती में करीब 25 जगहों पर आग लग गई थी, जिसके कारण लगभग 5 कि.मी. क्षेत्र में जहरीला धुआं फैल गया. इस जहरीले धुएं से लगभग 40 कॉलोनियों के 4 लाख लोग प्रभावित हुये और लोगों को आंखों में जलन, खांसी, सांस लेने में तकलीफ जैसी परेशानियों से गुजरना पड़ा साथ ही खंती से लगे हुये ग्रामीण क्षेत्र जहां बहुत से गांव भी हैं, खासे प्रभावित रहे.

भानपुर खंती के पास पीपुल्स अस्पताल और भोपाल मेमोरियल अस्पताल जैसे दो प्रमुख अस्पताल भी हैं, जहां मरीजों को धुएं की वजह से काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा.

इतना ही नहीं मंगलवार की सुबह धुआं इतना ज्यादा था कि खंती के आसपास की सडक़ों से गुजरने वाले राहगीरों ने बताया कि सडक़ पर कुछ दिखाई नहीं दे रहा था. विजिबिलिटी बहुत कम हो गई थी.

नगर निगम ने कंपनी को दिया नोटिस

भानपुर खंती को वैज्ञानिक ढंग से बंद करने के लिये नगर निगम ने जिस कम्पनी को ठेका दिया है, उसे मंगलवार की रात निगम ने नोटिस जारी किया है. निगम का मानना है कि आग अलाव की वजह से लगी लेकिन सच्चाई यह है कि भानपुर स्थित खंती में आये-दिन आग लगती रहती है.

यह पहली बार हुआ कि धुंध ने आधे शहर को अपनी गिरफ्त में लिया. पर्यावरणविद्ï डॉ. सुभाष पांडे ने भी आग की घटना पर गंभीर आरोप लगाये हैं.