जुलाई की वर्षा से देश भर में खरीफ की फसलें सम्हल गयीं. जून के वर्षा प्रारंभ के 2-4 दिनों के बाद ही 20-25 दिनों के अंतराल से देश में सूखे की स्थिति निर्मित हो गयी थी. रबी फसलों की तबाही से तबाह किसान खरीफ फसलों पर वर्षा अभाव का संकट देख भारी अवसाद में आ गया था.

लेकिन जुलाई की वर्षा ने सरकारों व किसानों को चिंता मुक्त कर दिया है. जुलाई में जिस तरह से बरसात हो रही है वह खेती के लिये बहुत ही अनुकूल है. जोरदार हल्लों से पानी गिरता है और खुल जाता है. रिमझिम भी बीच-बीच में होती रहती है और किसी दिन पूरी धूप भी निकल रही है. यह सब वर्षा ऋतु की स्वाभाविक प्रक्रियाएं हैं जो कृषि को बहुत उन्नत कर देती हैं.

मध्यप्रदेश में जुलाई वर्षा से तिलहन की फसलों में नयी जान आ गयी है. पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र में भी मानसून दोबारा सक्रिय हो गया है. महाराष्ट्र में 72 प्रतिशत से भी ज्यादा क्षेत्र में बुआई हो गई है. तिलहन व कपास में 100 प्रतिशत बुआई की जा चुकी है.

भारत के मौसम विभाग का कहना है कि देश भर में जुलाई की वर्षा अपने नियमित निर्धारित रूप में ही चलती रहेगी. जब पानी रुक जाता है और धूप निकलती है उस समय भी बादलों की उपस्थिति बनी रहती है. मध्यप्रदेश के उत्तर-पूर्व के हिस्से में निम्न दबाव का क्षेत्र बना हुआ है. इसके प्रभाव में मध्यप्रदेश के साथ-साथ महाराष्टï्र व गोवा में भी वर्षा होती रहेगी. इस समय पूरे मध्यप्रदेश राज्य में मौसम सक्रिय है और फसलों का उन्नयन का समय आ गया है. जुलाई में मानसून के पुन: सक्रिय हो जाने पर केन्द्र व राज्यों के कृषि विभागों का अनुमान है कि कुछ ही दिनों में बाकी बचे खेतों में भी बुआई हो जाने से फसल बुआई का आंकड़ा रिकार्ड स्तर पर पहुंच जायेगा.

वर्षा के अन्तराल में जहां बोयी जा चुकी फसलों को पानी के अभाव में जो नुकसान हो गया है उसकी भरपाई के लिये भी सभी जगहों पर शासकीय प्रयास शुरु हो गये हैं. किसानों को दोबारा बीज उपलब्ध कराया जा रहा है. सूखे की लगातार मार झेल रहे महाराष्टï्र में इस बार तिलहन फसलों की बुआई का आंकड़ा सामान्य के पार रिकार्ड स्तर पर पहुंच जायेगा.

मध्यप्रदेश में निमाड़ का क्षेत्र और महाराष्ट्र में विदर्भ का इलाका देश में सर्वाधिक व उन्नत किस्म की कपास देता है.

यहां वर्षा के अन्तराल में काफी संकट आ गया था. अब जुलाई वर्षा ने विदर्भ व निमाड़ के साथ-साथ मालवा के अन्य फसलों के कृषि क्षेत्र को बम्पर फसलों के लिये तैयार कर लिया है.

Related Posts: