छात्र ने छठे माले से लगाई छलांग, छात्रा फांसी पर झूली, एमपी बोर्ड का आया था रिजल्ट

भोपाल,

एमपी बोर्ड की 12 वीं परीक्षा का रिजल्ट आने से कुछ देर पहले ही एक छात्र ने छठवीं मंजिल से कूदकर अपनी जान दे दी. वहीं कक्षा दसवीं में तीन विषयों में फेल होने से मायूस एक छात्रा ने अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली.

सोमवार का दिन कुछ विद्यार्थियों के लिए टेंशन भरा रहा. एक ओर जहां अधिकतर छात्र-छात्राएं परीक्षा में पास होने का जश्न मना रहे थे वहीं कुछ विद्यार्थी जो परीक्षा पास नहीं हो सके वह टेंशन में रहे. राजधानी में दो विद्यार्थियों ने तो अपनी इहलीला ही समाप्त कर ली.

पहला मामला- सीसीटीवी में हुआ कैद

कोहेफिजा टीआई अनिल बाजपेई के मुताबिक सोमवार सुबह ग्रीन एकर्स कॉलोनी फेस-1, की छठवीं मंजिल से संदिग्ध परिस्थितियों में एक छात्र जमीन पर गिर गया था, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई.

मृतक की पहचान वाजपेयी नगर निवासी 20 वर्षीय करण कनाड़े पुत्र प्रेम कनाड़े के रूप में हुई. वह कक्षा 12 वीं का छात्र था. मृतक के पिता मजदूरी का काम करते हैं तथा उनके तीन बेटे थे.

सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतक का शव बरामद कर उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. पुलिस ने मौके पर लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज भी जब्त किए हैं जिनमें मृतक छात्र पहले तो बिल्डिंग की तरफ जाता दिखाई दे रहा है और बाद में वह बिल्डिंग से नीचे गिरता साफ दिखाई दे रहा है.

जानकारी मिलने पर परिवार के सदस्य भी सूचना पाकर मौके पर पहुंच गए थे. पुलिस पूछताछ में मृतक छात्र के भाई ने बताया कि प्रेक्टिकल एग्जाम में भी वह फेल हो गया था. उसे संदेह था कि वह परीक्षा में फेल हो जाएगा. मृतक सुबह आठ बजे अपने घर से निकल गया था. वहीं मृतक के पिता ने भी मामले को संदिग्ध बताया है.

दूसरा मामला – फांंसी

तलैया इलाके में रहने वाली 18 वर्षीय छात्रा ने अपने घर के किचिन में दुपट्टे से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. पुलिस की शुरुआती जांच में पता चला है कि सोमवार को आए एमपी बोर्ड की परीक्षा के रिजल्ट में छात्रा 10वीं की कक्षा में फेल हो गई थी.

तलैया थाना प्रभारी करण सिंह के मुताबिक तलैया इलाके में गंदे नाले के पास नीलेश रैकवार रहते हैं, वह आटो रिक्शा चलाने का काम करते हैं. उनकी एक बेटी और दो बेटे है. सोमवार सुबह वह आटो चलाने घर से निकल गए थे. दोपहर करीब 12 बजे उनकी पत्नी भी पड़ोस में रहने वाली अपनी मां के घर गई हुई थी.

घर में उनके तीनों बच्चे थे. कुछ देर बाद खेलते-खेलते उनके दोनों बेटे जब उपर वाली मंजिल पर पहुंचे तो किचिन में उनकी बड़ी बहन भावना रैकवार फांसी के फंदे पर झूल रही थी. उन्होने चिल्लाकर कर पड़ोस में रहने वाले सूरज बाथम को बुलाया.

लेकिन सूरज जब तक घर में पहुंचता तब तक भावना की मौत हो चुकी थी. सूचना पर मृतका के परिजन और पुलिस भी मौके पर पहुंच गई. परिजनों ने बताया कि मृतका 10वीं की परीक्षा में तीन विषयों में फेल हो गई थी. इसी टेंशन के कारण उसने फांसी लगाई होगी. पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरु कर दी है.

तीसरा मामला- छात्रा-तालाब में कूदी

तलैया थाना प्रभारी करण सिंह ने बताया कि अर्चना वाल्से पुत्री गोपाल वाल्से शहीद नगर में रहती है. वह बैरागढ़ स्थित संत हिरदाराम कालेज में एम काम की छात्रा है. छात्रा ने पुलिस को बताया कि दोपहर में वह पीरगेट पर किसी कोचिंग में गई थी. जहां उसका मोबाइल गिर गया. वह पैदल ही अपने घर जा रही थी.

रास्ते में वीआईपी रोड के पास स्थित शीतला माता मंदिर के पास वह मंदिर में दर्शन करने रुक गई. जहां उसे प्यास लगी. वह पानी पीने के लिए तालाब में उतर रही थी कि उसका पैर फिसल गया. मौके पर मौजूद नगर निगम के गोताखौरों ने उसे पानी से तुरंत निकाल लिया. वहीं वीआईपी रोड पर मौजूद लोगों ने बताया कि लडक़ी ने जान बूझकर तालाब में छलांग लगाई थी. जिसे तुरंत निकाल लिया गया नहीं तो उसकी मौत हो जाती.

Related Posts: