भोपाल,

अनुसूचित जाति- अनुसूचित जनजाति अधिनियम में बदलाव संबंधित उच्चतम न्यायालय के दिशानिर्देश के विरोध में आज कतिपय संगठनों के भारत बंद के दौरान प्रदेश के मुरैना और ग्वालियर जिले में गोलीबारी और आगजनी के साथ प्रदर्शन हिंसक हो गया।

मुरैना जिले में कई दुकानों में आगजनी और रेल यातायात प्रभावित होने की खबर है। वहीं ग्वालियर के मुरार उपनगर में प्रदर्शन हिंसक होने के बाद प्रशासन ने धारा 144 लागू कर दी है।

ग्वालियर से यूनीवार्ता संवाददाता से मिली खबर के मुताबिक मुरार में हथियारों से लैस बंद समर्थकों ने दुकानें बंद कराने के लिए गोलीबारी की, जिसमें दो लोग घायल हो गए। इस दौरान अपनी दुकानें खाेलने की कोशिश कर रहे व्यापारियों और बंद समर्थकों के बीच मारपीट भी हुई। हिंसा की आशंका को देखते हुए प्रशासन ने धारा 144 लागू कर दी।

ग्वालियर जिला मुख्यालय स्थित गोले का मंदिर क्षेत्र में प्रदर्शनकारियों के एक बस और कई वाहनों में आग लगाने की सूचना है। पुलिस प्रशासन बंद समर्थकों को खदेड़ने की कोशिश में जुटा है।

मुरैना से मिली खबर के मुताबिक प्रदर्शनकारियों ने कई दुकानों में आग लगा दी और प्रदर्शन के दौरान गोलीबारी करनी शुरु कर दी। स्थानीय रेलवे स्टेशन क्षेत्र के पास प्रदर्शनकारियों ने पथराव करते हुए रेलवे ट्रैक भी जाम कर दिया, जिससे रेल यातायात भी प्रभावित हुआ। पुलिस प्रशासन उपद्रवियों को बलपूर्वक खदेड़ते हुए रेल यातायात बहाल करने की कोशिश में है।

मुरैना में बंद विरोधी और बंद समर्थक कई संगठनों के आमने-सामने आने और दोनों के बीच पथराव की भी खबरें हैं। वहीं रेलवे ट्रैक पर पथराव के दौरान एक मीडियाकर्मी के भी घायल होने की खबर है।

वहीं मुरैना से सटे भिंड जिला मुख्यालय से करीब सात किलोमीटर दूर मालनपुर में सुबह से ही बंद समर्थकों ने राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 92 पर जाम लगा दिया, इसके चलते दोनों ओर बहुत से वाहन फंस गए। मौके पर भारी सुरक्षा बल तैनात किया गया है।

प्रदेश के पश्चिमी क्षेत्र में स्थित रतलाम जिले में भी बंद समर्थक संगठनों ने जबरन बाजार बन्द कराने की कोशिश की। इस दौरान कुछ फल व सब्जी वालों का सामान भी फेंक दिया गया। वहीं कुछ व्यवसायियों द्वारा इसका विरोध करने पर विवाद की घटनाएं भी हुई। बंद के आह्वान के चलते सड़कों पर आवाजाही प्रभावित हुई है। कुछ स्थानों पर आॅटों चालकों और बंद समर्थकों के बीच मारपीट की भी सूचना है।
वहीं राजधानी भोपाल समेत अन्य हिस्सों में बंद के ज्यादा असर की सूचना नहीं है।

Related Posts: