एक हजार रु. जुर्माना भी लगा

भोपाल,

सरेराह बच्चों का अपहरण करने का प्रयास करने के आरोपी धीरज राठौर को अपर सत्र न्यायाधीश वंदना जैन की अदालत ने दोषी ठहराते हुए तीन साल के कठोर कारावास और एक हजार रुपए के जुर्माने की सजा सुनाई है.

अभियोजन के मुताबिक 9 सितंबर 2016 को दोपहर करीब डेढ़ बजे फरियादी मनीषा चौधरी नवीन कन्या स्कूल सेकेन्ड स्टाप में पढऩे वाली अपनी बहन संगीता उम्र 10 साल और भाई राहुल उम्र 7 साल को स्कूल से लेकर घर पैदल जा रही थी, तभी शास्त्री चाय वाले की ओर से आरोपी आटो लेकर आया और भाई बहन को जबरन आटो में बिठाकर ले जाने लगा.

थोड़ी दूर जाकर भाई आटो से कूद गया. चाय वाला उस आटो वाले को पहचानता था और आटो का नंबर भी जानता था. फरियादी के पिता की शिकायत पर थाना टीटी नगर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ अपहरण के प्रयास का मामला दर्ज किया था.

Related Posts: