जीएम कार्यालय तक पहुंचे जनविरोध के स्वर

नवभारत न्यूज भोपाल,

हबीबगंज स्टेशन का पार्किग शुल्क बढ़ाये जाने के बाद यात्रीयों का रोष जारी है. इस रोष से डीआरएम ऑफिस सकते में है, पार्किग शुल्क के बढ़ाने का यह मामला जीएम कार्यालय तक पहुंच गया हैं. जिससे यहां के अधिकारी बैठक कर रहे है, कि यह मामला कैसे शांत हो सके. दरअसल लगातार तीन दिनों से पश्चिम मध्य रेल्वे के हबीबगंज रेल्वे स्टेशन में पार्किग के बढ़े शुल्क के बाद बैठके जारी है. गौरतलब है, कि यहा नये शुल्क से ं रेलयात्रा से ज्यादा दो पहिया और चार पहिया वाहन का किराया हो गया है.

जिसमें  दो पहिया वाहन चालको को चौबीस घंटे के हिसाब से 240 रुपये देय होगे वही कार चालकों के लिए चौबीस घंटे का शुल्क 540 रूपये है. जो कि पुराने शुल्क से पांच गुना अधिक है. भारतीय रेल्वे स्टेशन विकास निगम ने यह इजाफा किया है. उन्होने 1 फरवरी से यह नियम चस्पा किये है, तब से ही यात्रियों का विरोध जारी हैं. जिसके बाद नियमित यात्रा करने वाले मासिक पास की दरे कम की गई हैं.

यात्रियों को छोडने आने वाले वाहनों के ड्राप एडं गो लेन में निशुल्क समयावधि 7 मिनट से बढ़ाकर 15 मिनट कर दिया गया हैं. डीआरएम ने शुल्क कम करने का निवेदन भारतीय रेल्वे स्टेशन विकास निगम  से किया है, पर संस्था का रूख शुल्क कम करने का नहीं है.

हबीबगंज रेल्वे स्टेशन टिकट रिजर्वेशन करवाने आया था, पहले पार्किग के 10 रूपये देता था अभी नये नियमों की आड़ में अत्यधिक वसुली की जा रही हैं. जो अनैतिक है. मोनित यादव रहवासी नीलबढ़ दरों में इजाफे से आम आदमी की जेब पर बोझ पड़ा है, सरकार का यह रवैया जनता के हित में नहीं है.               सागर चौधरी रहवासी रचना नगर

यहां से उज्जैन तक का जनरल डब्बे का रेल किराया  80 रुपये है और हबीबगंज स्टेशन पर एक दिन  का पार्किग शुल्क 240 रुपये है. सोहन दीक्षित रहवासी अशोका गार्डन

Related Posts: