देवरिया,

समाजवादी पार्टी (सपा) ने आरोप लगाया है कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार ने कठुआ, सूरत और उन्नाव में हुई बलात्कार की घटनाओं पर से लोगों का ध्यान बटाने के लिये नोटबंदी जैसी स्थिति पैदा कर दी है।

सपा महासचिव रमाशंकर राजभर ने आज यहां ‘यूनीवार्ता’ से कहा कि कठुआ, सूरत और उन्नाव में बलात्कार की हुई घटानाओं से देश की जनता का ध्यान हटाने के लिये नोटमंदी जैसी स्थिति पैदा की जा रही है।

उन्होने कहा कि कठुआ, सूरत और उन्नाव की बलात्कार की घटनाओं ने देश को शर्मसार किया है। ये घटनायें विदेशी मीडिया की सुर्खिया बन रही हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी चार दिन की विदेश पर यात्रा पर घूम रहे हैं। इतनी बड़ी घटनाओं पर देश के प्रधानमंत्री की चुप्पी जनता की समझ से परे है। देश में नोटमंदी का का ताना बाना बुन कर जनता को परेशान किया जा रहा है।

सपा महासचिव ने कहा कि भाजपा बलात्कार की इन घटनाओं से देश की जनता का ध्यान भटकाने के लिये यह सबकुछ कर रही है। यह भाजपा का नया खेल है।

इस समय शादी ब्याह का समय है। नोटमंदी जैसी स्थित के कारण पूरे देश की जनता तबाह है। एटीएम खाली चल रहे हैं और प्रधानमंत्री विदेश में घूम रहे हैं। जनता अब भाजपा की सरकार को समझ गयी है और इसका जवाब वह 2019 के लोकसभा चुनाव में देगी।