भोपाल,

मध्यप्रदेश में बजट से पहले पेश आर्थिक सर्वेक्षण के आंकड़ों में हेराफेरी के आरोप लगाए गए हैं. बेरोजगार सेना के अक्षय हुंका ने कहा कि 28 फरवरी को 2017-18 का बजट पेश किया जाना है. हर वर्ष बजट के 1 दिन पहले आर्थिक सर्वेक्षण पटल पर रखा जाता है ताकि हर क्षेत्र में पिछले वर्ष में किये गए कार्य का लेखा जोखा रखा जा सके. इस कारण आज मध्यप्रदेश का वर्ष 2017-18 का आर्थिक सर्वेक्षण जारी किया गया.

आर्थिक एवं सांख्यिकी संचनालय, मध्यप्रदेश द्वारा जारी किये गए इस सर्वेक्षण में जानकारी छुपाने के उद्देश्य से वर्ष 2017 का बेरोजगारी से सम्बंधित डाटा जारी नहीं किया गया है. जबकि हमेशा इस सर्वेक्षण में पिछले वर्ष की बेरोजगारी से सम्बंधित जानकारी जैसे रोजगार कार्यालय में कुल पंजीकृत लोगों की संख्या, जितने लोगों को नौकरी मिली उनकी संख्या आदि होता है.

Related Posts: