नयी दिल्ली,

कांग्रेस ने आज आरोप लगाया कि सरकार बैंक घोटाले पर संसद में चर्चा कराने से भाग रही है और इस संबंध में लोकसभा में पेश उसके स्थगन प्रस्ताव की भाषा को भी बदल दिया गया है।

लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने यहां संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से कहा कि पूरा विपक्ष हजारों करोड़ रुपए के बैंक घोटाले पर सदन मेें चर्चा चाहता है। इस संबंध मेें उनकी लोकसभा में तृणमूल कांग्रेस के नेता सुदीप्त बंद्योपाध्याय तथा बीजू जनता दल के भर्तृहरि महताब के अलावा अन्य कई दलों के नेताओं से बात हुई है और सभी इस बारे में चर्चा चाहते हैं लेकिन सरकार इससे भाग रही है।

उन्होंने आरोप लगाया कि पार्टी ने लोकसभा में इस मुद्दे पर स्थगन प्रस्ताव दिया था लेकिन कार्यमंत्रणा समिति ने उसकी भाषा बदली है और नियम 193 के तहत चर्चा कराने की अनुमति दी है। इस संबंध में पार्टी नेताओं ने लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन से भी बात की है लेकिन उनकी मांग पर सकारात्मक विचार नहीं किया गया है।

श्री खड़गे ने कहा कि उन्होंने पंजाब नेशनल बैंक तथा अन्य बैंकों में हुए घोटालों पर चर्चा के लिए स्थगन प्रस्ताव पेश किया था लेकिन सरकार ने उसकी भाषा बदल दी और नियम 193 के तहत पूरे बैंकिंग सिस्टम पर ही चर्चा की इजाजत दी। उन्होंने इसे मनमानी करार दिया और कहा कि जब तक उनकी बात नहीं मानी जाती है वह चुप नहीं बैठेंगे।

Related Posts:

गोलवर्षा के बीच भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 6-5 से पीटा
गुड तालिबान, बैड तालिबान नहीं चलेगा
माली की राजधानी में आतंकियों का बड़ा हमला, 170 को बनाया बंधक,18 की हत्या
मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग ने पीड़ित पक्ष को राहत दिलाई
वीडियाे में दिखायी गयी लड़की मैं नहीं हूं : गुरमेहर
वैश्विक निवेश सम्मेलन का उद्घाटन करने पहुंचे मोदी