mufti mohammad ilyasअयोध्या, 19 फरवरी. जमीयत उलमा, बलरामपुर के सरपरस्त मुफ्ती मोहम्मद इलियास के अयोध्या में बुधवार को दिए बयान से हलचल मच गई. शनिधाम में पत्रकारों से बातचीत में मुफ्ती इलियास ने कहा, ‘भगवान शंकर हमारे पहले पैगंबर हैं।

शंकर और पार्वती हमारे मां-बाप हैं। भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करने का हम विरोध नहीं करते हैं। जैसे चाइनीज व जापानी हैं। वैसे ही हम हिंदुस्तानी हैं। हम भी सनातनधर्मीं हैं।Ó जमीयत उलमा के मौलानाओं ने देश व समाज की बुराइयों व सामाजिक सौहार्द और एकता के लिए बलरामपुर में 27 फरवरी को आयोजित राष्ट्रीय कौमी एकता कॉन्फ्रेंस के लिए संतों को आमंत्रित किया। इस दौरान उलमा ने आतंकवाद का पुतला फूंककर विरोध भी दर्ज कराया।

Related Posts: