नयी दिल्ली,

पाकिस्तान ने कहा है कि वह अपने देश को ‘आर्थिक रूप से मजबूत लोकतांत्रिक मुस्लिम देश’ मेें तब्दील करने, भारत तथा अन्य एशियाई देशों के साथ अच्छे तथा शांतिपूर्ण संबंध बनाने की मोहम्मद अली जिन्ना की आकांक्षाओं को पूरा करने को लेकर गंभीर है।

पाकिस्तान के राजदूत सोहैल महमूद ने आज यहां संवाददाताओं से कहा कि 23 मार्च 1940 को मुस्लिम लीग के लाहौर अधिवेशन में पाकिस्तान का प्रस्ताव पास होने तथा बंटवारे के बाद 1950 में देश के पहले संविधान को अंगीकार किए जाने के उपलक्ष में राष्ट्रीय दिवस मनाया जाता है।

उन्होंने कहा, “ पाकिस्तान दक्षिण एशिया के देशों के साथ शांतिपूर्ण संबंध का पक्षधर है। पाकिस्तान भारत के साथ अच्छे तथा शांतिपूर्ण संबंध रखना चाहता है।”

श्री महमूद ने इस मौके पर उन्होंने पाकिस्तान के राष्ट्रपति ममनून हुसैन तथा प्रधानमंत्री शाहिद खाकन अब्बासी के संदेशों को पढ़ा जिनमें दोनों नेताओं ने कहा कि यह वर्ष देश की राजनीति के लिए महत्वपूर्ण है। उन्होंने आम चुनाव के बाद ‘शांतिपूर्ण तरीके से सत्ता परिवर्तन’ होने की उम्मीद जताई।

Related Posts: