मास्को,

भारत-रूस ने एक बार फिर से सुरक्षा और आंतकवाद पर सहयोग बढ़ाने की प्रतिबद्धता को दोहराया है।
आधिकारिक जानकारी के अनुसार भारत के गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने अपनी रूस यात्रा के दौरान कल मास्को में रूस की सुरक्षा परिषद के सचिव निकोलई पतरुशेव से मुलाकात की।

मुलाकात के बाद दोनों देशों ने आतंकवाद का सामना करने और सुरक्षा के क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने की प्रतिबद्धता व्यक्त की। दोनों नेताओं ने अक्टूबर 2016 में हुए सूचना सुरक्षा समझौते के क्रियान्वयन की भी समीक्षा की। उन्होंने दोनों देशों की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषदों के बीच नियमित संवाद और सहयोग का भी सराहना की।

श्री सिंह ने रूस के आपातकालीन विभाग के मंत्री वलामिदिर पुचकोव से भी मुलाकात करके उनसे आपदा प्रबंधन क्षेत्र में सहयोग पर विस्तृत चर्चा की। दोनों नेताओं ने वर्ष 2010 के आपदा प्रबंधन समझौते की समीक्षा की।

दोनों देश इस बात सहमत हुए कि रूस का इमेरकोम भारत में राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन केंद्र (एनसीएमसी) स्थापित करने में सहयोग करेगा। इसके अलावा आपदा प्रबंधन के क्षेत्र में एक-दूसरे के साथ अनुभव साझा करने, विशेषज्ञों के प्रशिक्षण कार्यक्रम पर भी सहमत जताई गयी।

इसके बाद दोनों नेताओं ने आपदा प्रबंधन के क्षेत्र में वर्ष 2018-19 के लिए साझा कार्यान्वयन योजना पर भी हस्ताक्षर किए। श्री सिंह आज रूस की फेडरल सिक्युरिटी सर्विस (एफबीएस) का दौरा करेंगे और एफबीएस निदेशक एलेक्जेंडर बोर्तनिकोव से वार्ता करेंगे। श्री सिंह यहां भारतीय समुदाय के एक स्वागत समारोह में भी हिस्सा लेंगे।

Related Posts: