kerryनयी दिल्ली,  अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन कैरी ने चीन को चेतावनी भरे लहजे में आज कहा कि किसी भी देश को यह समझ लेना चाहिए कि दक्षिण चीन सागर में अंतरराष्ट्रीय समुद्री सीमा विवाद का समाधान सैन्य हस्तक्षेप से नहीं किया जा सकता, श्री कैरी ने यह भी कहा कि अंतरराष्ट्रीय कानूनों का पालन कैसे किया जाता है, चीन को, इस संबंध में भारत से सीख लेनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि भारत समुद्री सीमा को लेकर अंतरराष्ट्रीय न्यायाधिकरण के फैसले का पालन कर रहा है। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) दिल्ली के छात्रों के साथ बातचीत के दौरान यह उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि अमेरिका अपने सहयोगियों और मित्र राष्ट्रों की समुद्री सीमा संबंधी अधिकारों का पूरा समर्थन करता है। अमेरिका और मित्र राष्ट्र इस अधिकार की सुरक्षा के लिए परस्पर प्रतिबद्ध हैं।

अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय कानून का पालन करके भारत ने जो उदाहरण पेश किया है, इस तरह की पहल से दक्षिण चीन सागर की समस्या का शांतिपूर्ण हल निकाला जा सकता है। उन्होंने कहा ‘अमेरिका चाहता है कि फिलीपीन्स और चीन दक्षिण चीन सागर मामले में अंतरराष्ट्रीय न्यायाधिकरण के फैसले का सम्मान करें।

इस तरह के मामलों में अंतरराष्ट्रीय आदेशों का पालन करना महत्वपूर्ण है।’ गौरतलब है कि अंतरराष्ट्रीय न्यायाधिकरण के फैसले के बावजूद चीन सरकार दक्षिण चीन सागर क्षेत्र में अपनी सैन्य गतिविधियों का संचालन कर रही है।

Related Posts:

रतलाम-बदनावर में अपहरण से सनसनी
फोटोग्राफरों ने करवा दिया प्रियंका-शाहिद जोड़ी का अलगाव
पैदल मार्च के सहारे अपराधियों की धरपकड़
5 दिन में बकाया राशि जमा नहीं हुई तो भेल को नहीं मिलेगा पानी
मोदी ने प्रधानमंत्री आवास में मां के साथ खिंचवाई तीन तस्वीर
कांग्रेस खीजकर लोकतांत्रिक व्यवस्था को खतरे में डाल रही है: तोमर