malalaलंदन. पाकिस्तान की नोबेल पुरस्कार विजेता मलाला यूसुफजई को खबरों के मुताबिक ब्रिटेन में खतरे की आशंका के मद्देनजर हर समय दो सशस्त्र सुरक्षाकर्मी प्रदान किये गये हैं। बच्चियों की शिक्षा की वकालत करने वाली मलाला को 2011 में तालिबान ने सिर में गोली मार दी थी।

सुरक्षा बलों को 18 वर्षीय मलाला की सुरक्षा की जिम्मेदारी सौंपी गयी है क्योंकि खुफिया एजेंसियों ने उस पर खतरा बढऩे की चेतावनी दी है। उसकी हत्या के नाकाम प्रयास के बाद से उसकी जान को खतरा बना हुआ है। लेकिन उसकी पहचान बढऩे के बाद खतरे भी बढ़ गये हैं।

Related Posts:

पाक में फिर सैनिक शासन के आसार
चीन ने 2020 तक मंगल मिशन का लक्ष्य निर्धारित किया
पाक ने नियंत्रण रेखा पर फिर की जबर्दस्त फायरिंग
अफगानिस्तान में सैनिकों की संख्या में बढ़ोत्तरी पर अभी कोई निर्णय नहीं: पेंटागन
पाकिस्तान में कटासराज मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट का सख़्त आदेश
पाकिस्तान में हाफिज सईद के धर्मार्थ संगठनों पर प्रतिबंध