इस्लामाबाद,

सबसे कम उम्र की नोबल शांति पुरस्कार विजेता मलाला यूसुफ़ज़ई छह वर्ष के बाद कड़ी सुरक्षा के बीच आज अपनी सरजमीं पाकिस्तान वापस लौटीं।

पाकिस्तान के जियो टीवी ने मलाला की इस्लामाबाद हवाई अड्डे से कड़ी सुरक्षा के बीच बाहर निकलने की तस्वीरें दिखायी है। मलाला को 17 वर्ष की आयु में साल 2014 में शिक्षा का समर्थन करने के लिए नोबल शांति पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

वर्ष 2012 में मलाला पर हुए तालिबान आतंकवादियों के हमले के बाद वह पहली बार पाकिस्तान लौटीं हैं। मलाला के शिक्षा को समर्थन देने से नाराज तालिबान के नकाबपोश आतंकवादियों ने बच्चों की स्कूली बस को रोककर उनके सिर में गोली मार दी थी। इसके बाद मलाला को सर्जरी के लिए विदेश ले जाया गया था।

ब्रिटेन में रह रही मलाला ने पिछले सप्ताह ही ट्विटर पर अपने वतन वापस लौटने की इच्छा जाहिर की थी। उन्होंने ट्वीट किया, “आज मैं अपने घर की यादों घर की छत पर क्रिकेट खेलने, स्कूल में राष्ट्रगान गाने को लेकर खुश हूं।”

Related Posts: