इपोह (मलेशिया),

भारत ने पराजयों का सिलसिला पीछे छोड़ते हुए मेजबान मलेशिया को बुधवार को 5-1 से पीटकर 27वें सुल्तान अजलान शाह हॉकी टूर्नामेंट में अपनी पहली जीत दर्ज की अौर इसके साथ ही फाइनल के लिए अपनी संभावनाएं भी जगा लीं।

भारत की चार मैचों में यह पहली जीत है और उसके चार अंक हो गए हैं।शुक्रवार को अंतिम लीग मैचों में फाइनल में पहुंच चुके आस्ट्रेलिया का मुकाबला अर्जेंटीना से, भारत का आयरलैंड से और मलेशिया का इंग्लैंड से होना है।

यदि भारत आयरलैंड को बड़े अंतर से हरा देता है और आस्ट्रेलिया अर्जेंटीना को पराजित करता है तथा इंग्लैंड और मलेशिया का मैच ड्रा रहता है तो भारत के लिए फाइनल की संभावनाएं बन जाएंगी।

भारत को अपने पहले मैच में अोलंपिक चैंपियन अर्जेंटीना से 2-3 से हार का सामना करना पड़ा था जबकि गत चैंपियन इंग्लैंड से उसका दूसरा 1-1 से ड्रा रहा था।भारत को फिर विश्व चैंपियन अास्ट्रेलिया से 2-4 से हार मिली।

पिछले टूर्नामेंट में तीसरे स्थान पर रही भारतीय टीम के लिए मलेशिया को हराना बहुत जरुरी था और उसने गुरजंत सिंह के दो गोलों की मदद से मलेशिया काे 5-1 से रौंद दिया।

आस्ट्रेलिया 12 अंकों के साथ फाइनल में पहुंच चुका है।अर्जेंटीना सात अंकों के साथ दूसरे, मलेशिया छह अंकों के साथ तीसरे, इंग्लैंड पांच अंकों के साथ चौथे आैर भारत चार अंकों के साथ पांचवें स्थान पर है।

भारत ने मैच का पहला गोल 10वें मिनट में किया।युवा खिलाड़ी शिलानंद लाकड़ा ने मैदानी गोल से भारत को बढ़त दिलाई।भारत की एक गोल की बढ़त पहले हाफ में कायम रही।मलेशिया ने 33वें मिनट में पेनल्टी कार्नर पर फैजल सारी के गोल से बराबरी हासिल कर ली।

गुरजंत ने 42वें मिनट में पेनल्टी कार्नर पर गोल किया और भारत 2-1 से आगे हो गया।सुमित कुमार ने 48वें मिनट में मैदानी गोल से भारत को 3-1 की बढ़त दिला दी।स्टार खिलाड़ी रमनदीप सिंह ने 51वें मिनट में भारत का चौथा गोल दागा।गुरजंत ने 57वें मिनट में मिले पेनल्टी कार्नर का पूरा फायदा उठाते हुए अपना दूसरा और टीम का पांचवां गोल कर दिया।

इससे पहले खेले गए मैचों में आस्ट्रेलिया ने आयरलैंड को 4-1 से हराया जबकि अर्जेंटीना और इंग्लैंड का मैच 1-1 से बराबर छूटा।

Related Posts: