यात्रियों ने बताया दर्द-आंधे घंटे से बैठे हैं बस में क्या करें बढ़ेगी तभी तो जाएंगे

  • पुलिस कार्यवाही का भी नहीं होता कोई असर

नवभरत न्यूज भोपाल,

शहर में मिनी बस और बीसीसीएल द्वारा संचालित सिटी बस चालकों की मनमानी से लोग खासे परेशान हो रहे हैं. गंतव्य की ओर पहुंचने में लग जाता है घंटों का समय. यह वाक्या गुरूवार को हबीबगंज नाके से दो नंबर बस में बैठे यात्रियों की बेचैनी देखकर पता चला.

बस में बैठे एक यात्री को कुरेदने पर वह बोला क्या करें, बढ़ेगी तभी तो जाएंगे. यहां ऐसे ही करते हैं बस वाले. क्या करें. यही नजारा यहां अन्य दो मिनी बसों में भी था. इस अव्यवस्था को देखने वाला कोई नहीं है.

जानकारी के मुताबिक मिनी बस चालकों के मनमानीपूर्ण रवैया हमेशा से ही शहर में हावी रहा है. जब यातायात पुलिस थोड़ी सख्ती बरतने लगती जाती है तो कुछ दिन बस स्टॉपों पर इन सिटी बस चालकों की मनमानी में कमी आ जाती है.

मगर सख्ती में ढील देते ही वे फिर से पुराने ढर्रे पर मनमानी करने लग जाते हैं. ऐसा ही दृश्य शहर के हबीबगंज नाका में खड़ी मिनी बसों की एक साथ दो, तीन बसों को खड़े देखकर लगाया जा सकता है. यहां यह समस्या रोज की है. जहां सुबह से लेकर देर रात तक देखी जा सकती है.

गुरूवार को करीब पौने चार बजे दो नंबर बस में सवार ईश्वर नगर के रहवासी यात्री कल्लू सिंह से बस में चर्चा करने पर पता चला. वे बताते हैं कि वे अक्सर यहां से कभी कभार बस से जाते हैं. आज जा रहे हैं.

करीब आधा घंटे से भी अधिक का समय हो गया है. बस में बैठे हुए मगर बस बढ़ेगी तभी तो जायेंगे. मगर चालक से बात करने पर वह भडक़ उठा. चल रहे हैं बैठे रहो. थोड़ी गाड़ी में सवारी तो आने दो, अभी खाली है भई. बस चल रहे.

यही से वापस हो रही बीसीसीएल की 309 नंबर की एक बस यहां से गुजरी, जो यहां करीब दस मिनट खड़ी रही. बस क्लिनर चैन सिंह से चर्चा करने वह उसने यहां दस मिनट की बजाय दो तीन मिन से ही खड़ा होने की बात करते हुए यहां से रवाना हो लिया. साथ ही इस प्रतिनिधि को उसने बताया थोड़ा गेप बनाना पड़ता है. आगे बस चल रही है. वैसे हमारा समय हर स्टॉफ पर तय है समय के साथ ही चलते है.

सुबह और शाम के समय लगता है जाम

हबीबगंज नाके स्थित बस स्टॉप पर एक साथ दो से तीन बसों के खड़े हो जाने से यहां सुबह और शाम के समय हमेशा जाम की स्थिति बनी रहती है. परिणाम स्वरूप यहां से गुजरने वाले राहगीरों जाम में फंस जाने से खासी परेशानी उठानी पड़ती है.

घंटा भर लगना आम बात है

शहर में नगर बस सेवा के अव्यवस्थित संचालन के कारण यात्रियों को रोजना ही एक मिनी बस, बीसीसीएल की बसों में सफर के दौरान अपने गंतव्य तक पहुंचे में घंटा भर से भी अधिक का समय लगना आम है. प्रभम से चार स्टाफ तक पहुंचने में ही मिनी बस में लग जाता आधा घंटा, ऐसी स्थिति उन यात्रियों की क्या होती होगी जो बस स्टेंड से हबीबगंज या आगे तक आता होगा. इसका स्वत: ही लगाया जा सकता है.

पूरा फेरा भी नहीं लगाती कई बसें

सूत्रों के मुताबिक हबीबगंज नाके से दो नंबर मिनी बसें और सात नंबर मिनी बसें बस स्टैंड की ओर से चलकर हबीबगंज नाके से ही वापस लौट आती है. ऐसी दशा में यात्रियों को दूसरी बस से गंतव्य तक पहुंचना पड़ता है. जबकि दो नंबर बस का तय रूट आकृति कॉलोनी तक है, और सात नंबर बस का तय रूट जाटखेड़ी तक है.

निगम की कार्यवाही भी साबित हो रही बौनी

नगर निगम का अतिक्रमण विरोधी अमला भी शहर में कार्यवाही का ढिंढोरा तो पीटता है मगर अतिक्रमण फिर से न हो इसके लिए ठोस व्यवस्था बनाने में वह नाकाम साबित हो रहा है. यहां से अतिक्रमण हटाने के बाद फिर से उसी जगह नजर आने लग जाते है.

अतिक्रमण भी बने हैं यातायात में बाधा

हबीबगंज नाके के दस नंबर की ओर जाने वाले किनारे पर चाय पान,फु़ल्की के ठेले और अस्थाई तौर पर खड़े होने वाले खान पान की दुकान वालों के कारण भी यहां आस-पास भीड़ बढ़ जाती है.

यही स्थिति नाके से हबीबगंज स्टेशन आने वाले मार्ग के किनारे के फुटपार्थ पर भी अतिक्रमण की भरमार है. ऐसी दशा में दुकानों पर आने वाले लोग बेतरतीब तरीके से वाहन खड़ा कर देते हैं. इससे यहां जाम के समय खासी परेशानी राहगीरों को उठानी पड़ रही है.

आमजन बोले

दस नंबर के आस-पास के रहवासी लक्षमण सिंह, आनंद सिंह समेत अन्य करीब आधा दर्जन से अधिक लोगों का कहना है कि यहां मिनी बस वाले एक साथ आधे-आधे घंटे तक खड़े रहते हैं.

इससे दिन में तो काई ज्यादा परेशानी नहीं होती मगर सुबह ऑफिस टाइम और शाम को ऑफिस टाइम छुटने के दौरान यहां अक्सर जाम लग जाता है. क्या करे पुलिस भी यहां देखती रहती है. कार्यवाही भी होती है पर बस वालों कोई अंतर नही पड़ता. गाड़ी भरने के बाद ही यहां से बसे रवाना होते है.

हम पूरे क्षेत्र में कार्यवाही निरंतर ही करते हैं. अगर उनकी ध्यान में हबीबगंज नाका पर फुटपाथ किनारे अतिक्रमण है तो उन्हें वहां से हटवाया जायेगा .
अतिक्रमण प्रभारी शाकिब कंवर
नगर निगम,भोपाल.

हम हबीबगंज ही नही अन्य जगह के बस स्टॉपों पर जहां ज्यादा देर तक खड़े होने वाले मिनी बस पर निरंतर चालानी कार्रवाई करवाते है. अगर फिर से बस स्टॉप पर बसे रूक रही है तो जरूर कार्रवाई करवाएंगे.
महेन्द्र जैन , एएसपी जोन-5
यातायात पुलिस,भोपाल.

Related Posts: