कार्रवाई नहीं होने पर मैनेजर ने दी आत्महत्या की चेतावनी

नवभारत न्यूज बैतूल

महाराष्ट्र में शिवसेना के कार्यकर्ताओं और नेताओं के झगड़े टोल नाकों पर टोल नही देने को लेकर आये दिन देखने सुनने को मिलते है लेकिन आज बैतूल नागपुर फोरलेन पर मिलानपुर टोल नाके पर भी शिवसेना के नेता का विवाद टोल नही देने को लेकर हो गया विवाद भी थोड़ा बहुत नही करीब एक घण्टे हुआ हंगामा बैतूल बाजार पुलिस ने मौके पर पहुंच कर मामले को शांत कराया।

मामला दोपहर 1 बजे के करीब का है बैतूल से नागपुर कार से जा रहे शिवसेना प्रदेश उपाध्यक्ष रजनीश गिरे और उनके साथियों को मिलानपुर टोल प्लाजाकर्मी ने टोल लेने के लिए रोक लिया बस यही बात प्रदेश उपाध्यक्ष रजनीश गिरी को बुरी लग गई उसने टोल देने से मना कर दिया जब टोलकर्मी ने कहा बिना टोल दिए नही जाने दूंगा तो नेताजी को और बुरा लगा और टोलकर्मी को गालियां देने लगे देखते ही देखते मामला इतना बढग़या कि मामला मारपीट की नौबत आ गई शिव सेना के प्रदेश उपाध्यक्ष ने टोल मैनेजर संजय दुबे को भी गाली दी और तो सारे टोलकर्मी इकट्ठे हो गए और टोल बन्द कर दिया टोल के दोनों ओर गाडिय़ों का लंबा जाम लग गया।

शिव सेना के रजनीश गिरी ने फोन लगाकर मुलताई से आए शिवसैनिकों को बुला लिया तभी बैतूल बाजार थाने के एस आई ओपी यादव मौके पर पहुंचे और मामला शांत कराया। इसी बीच टोल मैनेजर को गुस्सा आ गया और उसने पुलिस को भी खरी खोटी सुना दी और कहने लगे यदि बैतूल बाजार पुलिस ने इन शिवसैनिकों पर कार्यवाही नही की तो शाम तक आत्मदाह कर लूंगा जैसे तैसे मामला शांत हुआ सभी शिव सैनिकों को मुलताई रवाना किया और ट्रैफिक शुरू किया गया।

टोल मैनेजर संजय दुबे ने बताया कि प्रदेश उपाध्यक्ष रजनीश गिरी टोल पर पैसे की मांग करता है 50 हजार महीना मांगता है, आज भी ये अपनी और उनके साथियों की करीब दस गाडिय़ां बिना टोल चुकाए निकलने की कोशिश कर रहा था और टोल कर्मी द्वारा टोल मांगा गया तो शिव सैनिको ने पुलिस के सामने मुझे गाली देना सुरु कर दिया मुझे भी गाली दी है मैं यदि पुलिस कोई कार्यवाही नही करेगी तो मैं आत्मदाह कर लूंगा।

वही बैतूल बाजार पुलिस का कहना है कि शिवसेना के मुलताई निवासी प्रदेश उपाध्यक्ष रजनीश गिरी अपने साथियों के साथ टोल से गुजर रहे थे। टोल वालो ने उनके साथियों की गाड़ी तो फ्री छोड़ दी लेकिन रजनीश गिरी की गाड़ी रोक कर टोल मांगने लगे बस इसी बात से विवाद हो गया लेकिन विवाद को शांत करा कर टोल शुरू करा दिया गया है।

Related Posts: