बेंगलूर 26 सितंबर. पुछल्ले बल्लेबाजों के एक और नायाब प्रयास तथा किस्मत के दम पर मुंबई इंडियंस तीसरे चैंपियंस लीग ट्वंटी.20 क्रिकेट टूर्नामेंट के बेहद रोमांचक मुकाबले में त्रिनिदाद और टोबैगो को अंतिम गेंद पर एक विकेट से हराकर लगातार दूसरी जीत दर्ज कराने में सफ ल रहा, इससे पूर्व पहले मैच में भी मुंबई को पुछल्ले बल्लेबाजों ने ही जीत दिलाई थी.

एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेले गए टूर्नामेंट के छठवें मुकाबले में कप्तान हरभजन सिंह की अगुवाई में कसी हुई गेंदबाजी के आगे त्रिनिदाद और टोबैगो टीम मात्र 16.2 ओवर में 98 रन बनाकर आउट हो गई. टीएंडटी के लिए जेसन मोहम्मद ने 23 लिडंल सिमंस ने 21 और डेरेन ब्रावो ने 18 रनों का योगदान दिया. हरभजन ने 22 रन देकर तीन विकेट चटकाए. लसिथ मलिंगा ने 22 रन देकर दो विकेट निकाले, जवाब में मुंबई को मैच जीतने के लिए एड़ी, चोटी का पसीना बहाना पड़ा. अंतिम गेंद पर मुंबई को जीत के लिए दो रन चाहिए थे जिसे 10वें और 11वें क्रम के बल्लेबाज क्रमश अबु नेखिम नाबाद 2, और यजुवेंद्र चहल नाबाद 2, ने बनाकर लक्ष्य हासिल कर लिया. मुंबई के लिए अंबाती रायूडू ने सर्वाधिक 36 रन 47 गेंद 3 चौका, बनाए. टीएंडटी की तरफ  से रवि रामपाल ने 17 रन देकर तीन विकेट चटकाए. कैरेबियाई टीम ने क्वालीफ ाइंग दौर के दोनों मुकाबले जीतकर मुख्य चरण में प्रवेश किया था. साथ ही टीएंडटी लीग के पहले संस्करण की उपविजेता टीम रही थी. मुंबई ने पहले मैच में चेन्नई को एक गेंद शेष रहते तीन विकेट से हराया था.

आसान लक्ष्य के जवाब में मुंबई टीम भी शुरुआत ही बुरी तरह से लडख़ड़ा गई और महज 16 रन पर चार विकेट गिर गए. सैमुएल बद्री ने तीसरे ओवर की तीसरी गेंद पर एंडी ब्लिजार्ड 2, को सिमंस के हाथों कैच कराकर पहली सफ लता दिलाई. अगले ओवर की तीसरी गेंद पर रामपाल ने भी दूसरे सलामी बल्लेबाज टी सुमन 10, को सेरेन गंगा के हाथों लपकवाया. रामपाल ने इसी ओवर के अंतिम गेंद पर जेम्स फ्रें कलिन 0, को कैच आउट कराया. रामपाल ने मुंबई को अपने अगले ओवर में एंड्रयू सायमंडस 0, को बोल्ड कर एक और झटका दिया. मुंबई के शीर्ष चार विकेट महज 16 रन के स्कोर पर गिर गए. रायुडू और कीरोन पोलार्ड 9, ने पांचवें विकेट के लिए 17 रनों की साझेदारी कर लगातार विकेटों के पतन को कुछ देर रोका. लेकिन सुनील नारायन ने पोलार्ड को बोल्ड कर मुंबई की हालत बहुत ही खराब कर दी. हालांकि इसके बावजूद रायुडू ने एक छोर संभालते हुए टीम की उम्मीदों को जीवंत रखा. रायुडू ने आर सतीश 14, के साथ छठवें विकेट के लिए 32 रन उपयोगी साझेदारी की. लेकिन नारायन ने सतीश को सिमंस के हाथों कैच आउट कराकर एक और सफलता दिलाई. इसके बाद पिछले मैच में टीम को जीत दिलाने वाले हरभजन दो रन लेने के प्रयास में रन आउट हो गए.

इनके अलावा मुंबई के दो और बल्लेबाज रायुडू व लसिथ मलिंगा 15 रनए 8 गेंद 1 चौका व 1 छक्का, रन आउट हुए. इससे पूर्व टीएंडटी का टास जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला रास नहीं आया. टीम के बिखरने की शुरुआत मलिंगा ने की सलामी बल्लेबाज एड्रियन बराथ 11, तीसरे ओवर में उनकी गेंद पर बोल्ड हो गए. दूसरे सलामी बल्लेबाज लेंडल सिमंस 21 रनए 18 गेंद 2 चौका व 1 छक्का, का रन आउट होना निराशाजनक था जो दूसरा रन लेने की कोशिश में खुद की गलती से पवेलियन लौटे. कप्तान डेरेन गंगा 5, फ्रैंकलिन के पहले और पारी के सातवें ओवर की आखिरी गेंद पर भारतीय घरेलू क्रिकेट के सर्वश्रेष्ठ क्षेत्ररक्षक राजागोपाल सतीश को लांग आफ पर कैच दे बैठे जिससे टीएंडटी ने 57 रन पर तीसरा विकेट खो दिया.

हरभजन ने अगले ओवर में दिनेश रामदीन को अपनी ही गेंद पर कैच आउट किया जो अपना खाता भी नहीं खोल सके थे. इसके बाद विंडीज की घरेलू टीम 13 गेंद में एक भी रन नहीं जोड़ पाई और हरभजन ने अपने दूसरे ओवर में इसी स्कोर पर ड्वेन ब्रावो 18 रनए 16 गेंदए 2 छक्का, के स्टंप उखाड़ दिए. त्रिनिदाद का यह बल्लेबाज छक्का लगाने की कोशिश में था. हरभजन आज पूरी लय में दिखे और उन्होंने शेरविन गंगा 2, को पगबाधा आउट कर अपना तीसरा शिकार किया. 13वें ओवर में केवन कूपर और रवि रामपाल एक भी रन जोड़े बिना पवेलियन पहुंच गए जिससे टीम का स्कोर आठ विकेट पर 83 रन हो गया. दो साल पहले तक टीएंडटी की ओर खेलने वाले पोलार्ड ने जेसन मोहम्मद 23 रनए 27 गेंद 1 चौका व 1 छक्का, का विकेट चटकाया. सुनील नरेन 11 रन 9 गेंद 1 चौका, 17वें ओवर की दूसरी गेंद पर आउट होने वाले अंतिम बल्लेबाज रहे.

Related Posts: