गोल्ड कोस्ट,

सिरिंज प्रकरण से राहत पाने वाले भारतीय मुक्केबाजों को गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों की मुक्केबाजी प्रतियोगिता में अच्छा ड्रा मिला है और पहली बार इन खेलों में पदक की तलाश में उतरी पांच बार की विश्व चैंपियन एमसी मैरीकॉम पदक सुनिश्चित करने से सिर्फ एक जीत दूर हैं।

लंदन ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता और पिछले साल एशियाई प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक जीतने वाली मैरीकॉम पहली बार राष्ट्रमंडल खेलों में उतर रही हैं और उन्हें आठ अप्रैल को अपने 48 किग्रा वर्ग के क्वार्टरफाइनल में स्कॉटलैंड की मेगन गाॅर्डन से भिड़ना है।

भारत ने पिछले राष्ट्रमंडल खेलों में मुक्केबाजी में चार रजत और एक कांस्य सहित पांच पदक जीते थे लेकिन इस बार भारत को अपने मुक्केबाजों से स्वर्ण पदक की उम्मीद है।

स्वर्ण पदक की प्रबल दावेदार मैरीकॉम के वर्ग में सिर्फ आठ मुक्केबाज़ हैं और अपना पहला मुकाबला जीतते ही वह सेमीफाइनल में पहुंचकर कम से कम कांस्य पदक पक्का कर लेंगी।लेकिन मैरी की निगाहें इन खेलों में स्वर्ण पदक जीतने पर लगी हुई हैं।पदक की एक अन्य दावेदार और एशियाई चैंपियन एल सरिता देवी (60) का मुकाबला किम्बर्ली गिटेंस से होगा।