parvezकराची,  पाकिस्तान के पूर्व सैन्य शासक परवेज मुशर्रफ ने सरकार से गुप्त समझौता करने के बाद देश छोड़ा है. सरकार से अनुमति मिलने के बाद मुशर्रफ शुक्रवार तड़के इलाज के लिए दुबई रवाना हुए थे.

मुशर्रफ के एक करीबी सहयोगी ने रविवार को बताया कि सरकार के साथ हुए समझौते की शर्तों का खुलासा सही समय पर किया जाएगा. मुशर्रफ द्वारा शुरू की गई पार्टी ऑल पाकिस्तान मुस्लिम लीग (एएमपीएल) के मुख्य समन्वयक अहमद रजा कसूरी ने साथ ही इस दावे को खारिज किया कि सुप्रीम कोर्ट के आदेशों का पालन करते हुए निकास नियंत्रण सूची (ईसीएल) में से पूर्व राष्ट्रपति का नाम काट दिया गया है.

कसूरी ने बताया, गुरुवार देर रात दो बजे मेरा फोन बजा. लाइन पर जनरल साहब (मुशर्रफ) थे. उन्होंने मुझे भरोसे में लिया और जाने से पहले समझौते (सरकार के साथ हुए) की शर्तों के बारे में बताया. कसूरी ने कहा कि समझौते में यह परिकल्पना की गई है कि सरकार मुशर्रफ के खिलाफ देशद्रोह के मुकदमे को खत्म करेगी. उन्होंने कहा, समझौते की शर्तों को मैं सही वक्त पर बताऊंगा.

Related Posts:

कई-कई दिन बैडरूम से बाहर नही आता था "ओसामा "
पाकिस्तानियों की भी आंखें नम काका के निधन से
अमेरिका ने दोहराया सुरक्षा परिषद में भारत की स्थायी सदस्यता का समर्थन
क्षेत्रीय, वैश्विक समृद्धि के लिए काम करें भारत-चीन : प्रणव
ओबामा ने महिलाओं पर टिप्पणी को लेकर ट्रंप की आलोचना की
दीर्घकालिक विकास के लिए शांति जरूरी : सू की