भोपाल,

मिसरोद थाना क्षेत्र स्थित स्वयंवर मैरिज गार्डन का मैनेजर अपनी महिला कर्मचारी के साथ पिछले 5 माह से बलात्कार कर रहा था.

पीडि़त महिला के 5 बच्चे है. बुधवार को चाइल्ड लाइन और मिसरोद पुलिस ने छापा मारकर स्वयंवर मैरिज गार्डन से महिला को आजाद कराया. पुलिस ने महिला की शिकायत पर आरोपी मेनेजर के खिलाफ रेप का मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है.

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार मूलत: खरगौन की रहने वाली 32 वर्षीय पीडि़ता मिसरोद इलाके में स्थित मैरिज गार्डन में देखरेख का काम कर अपने पांचों बच्चों का पालन-पोषण बीते चार महीने से कर रही थी.

उसका पति खरगौन में ही रहता है. करीब चार माह पूर्व पीडि़ता का एक बच्चा बीमार हुआ था. महिला ने अपने बच्चे को इलाज के लिए जेपी अस्पताल में भर्ती कराया था. बच्चे की बीमारी का इलाज का झांसा देकर आरोपी सोनू वर्मा पिता मुन्नीलाल उम्र 40 वर्ष, ने मैरिज गार्डन के एक कमरे में महिला की मर्जी के खिलाफ उसके साथ बलात्कार किया.

चाइल्ड लाइन के प्रयास से आजाद हुई महिला

दरअसल शहर की चाइल्ड लाइन टीम को महिला के साथ हो रहे दुष्कर्म और बाल मजदूरी की जानकारी लगी थी. बुधवार को चाइल्ड लाइन टीम ने स्वयंवर मैरिज गार्डन पहुंचकर 5 बच्चों सहित पीडि़त महिला को मैनेजर के चंगुल से छुड़ाया. इसके बाद इस मामले की शिकायत चाइल्ड लाइन ने मिसरोद थाने में की.

लीज पर ले रखा है मैरिज गार्डन

पुलिस के अनुसार आरोपी इस गार्डन में मेनेजर है. यह गार्डन किसी भगवती नाम की महिला का है. जिसे अरेरा कालोनी निवासी गौरव रघुवंशी और इशांत शिवहरे ने लीज पर ले रखा है. पुलिस ने इन दोनों से भी इस मामले में पूछताछ की है.

Related Posts: