महापौर आलोक शर्मा व निगम आयुक्त ने किया श्रमदान

भोपाल,

स्वच्छ भारत अभियान के अंतर्गत स्वच्छ सर्वेक्षण-2018 में भोपाल को देश का सबसे स्वच्छ शहर बनाने के साथ ही झीलों एवं तालाबों के संरक्षण एवं इनकी सफाई का कार्य भी निरंतर किया जा रहा है.

रविवार को प्रात: महापौर आलोक शर्मा ने निगम आयुक्त प्रियंका दास के साथ राजधानी की ऐतिहासिक ताजुल मसाजिद के पास स्थित मोतिया तालाब की सफाई कार्य में श्रमदान किया.

तालाब की सफाई कार्य में एन.डी.आर.एफ की ग्यारहवीं बटालियन के सदस्यों, एन.सी.सी. के कैडे्टस एवं आई-क्लीन भोपाल टीम के सदस्यों ने भी श्रमदान कर सहयोग दिया और मोतिया तालाब की दीवारों की सफाई कर उस पर स्वच्छता के संदेश देते चित्र उकेरे.

इससे पहले महापौर आलोक शर्मा ने दारूल उलूम ताजुल मसाजिद के विद्यार्थियों को स्वच्छता की पाठशाला आयोजित कर स्वयं से स्वच्छता की शुरूआत करते हुए अपने घर, परिवार, मोहल्ला एवं शहर को साफ-स्वच्छ रखते हुए रोको-टोको अभियान को आत्मसात करने और भोपाल को स्वच्छता में नंबर 01 बनाने में सहयोग करने की अपील भी की और स्वच्छता की शपथ भी दिलाई और एन.डी.आर.एफ के दल के साथ मोटर बोट से तालाब का निरीक्षण भी किया.

इस अवसर पर महापौर परिषद के सदस्य महेश मकवाना, अपर आयुक्त एम.पी. सिंह, उपायुक्त सुधा भार्गव एवं हर्षित तिवारी, अधीक्षण यंत्री पी.के. जैन, जोन 2 के अध्यक्ष मनोज राठौर, क्षेत्रीय पार्षद मो. सउद, एन.डी.आर.एफ. के श्री सुरेश कुमार, एन.सी.सी. के जूनियर कमांडिंग ऑफीसर पी.के. बारिक, आई-क्लीन टीम के अलावा दारूल उलूम के प्राध्यापक, गणमान्य नागरिक एवं निगम के अन्य अधिकारी मौजूद थे.

मोतिया तालाब की सफाई कार्य में सहयोग करते हुए महापौर आलोक शर्मा व निगम आयुक्त प्रियंका दास सहित अन्य उपस्थितजन ने तालाब से कचरा, गाद आदि की सफाई की एवं कचरा उठाकर, कचरा वाहन में डाला साथ ही दीवारों पर स्वच्छता एवं पर्यावरण संरक्षण संबंधी संदेश देने वाले चित्रों को भी उकेरा तथा इस कार्य में सभी सहयोगियों का उत्साहवर्धन भी किया.

महापौर शर्मा ने कहा कि हमारे प्रयासों के सकारात्मक परिणाम भी सामने आ रहे हैं. अब नागरिक स्वच्छता के प्रति जागरूक हुए हैं और अत्यन्त हर्ष की बात है कि हमारे स्वच्छता अभियान में नागरिक और संस्थाएं सक्रिय रूप से साथ आ रही हैं और भोपाल को साफ, स्वच्छ शहर बना रहे हैं.

महापौर शर्मा ने गत स्वच्छता सर्वेक्षण-2017 में नागरिकों एवं संस्थाओं द्वारा दिए गए सहयोग की सराहना करते हुए कहा कि पिछली बार जो कमियां रह गई थीं उसे हम दूर कर रहे हैं और स्वच्छता में व्यवधान उत्पन्न करने वालों के विरूद्ध भी निरंतर कार्यवाही की जा रही है.

भोपाल बनेगा नंबर 1

महापौर शर्मा ने कहा कि भोपाल झीलों का शहर है और यहां की झीलें व तालाब इस शहर के प्राण हैं, शान हैं और पहचान भी हैं. इन्हें सजाने, संवारने और संरक्षित रखने हेतु नगर सरकार संकल्पित होकर कार्य कर रही है.

उन्होंने मोतिया तालाब की सफाई एवं दीवारों की पेंटिंग आदि के कार्य में सभी सहयोगियों के प्रति आभार व्यक्त किया एवं उनका उत्साहवर्धन करते हुए कहा कि इसी प्रकार का सहयोग निश्चित ही हमें अपने शहर की सुंदरता को बढ़ाने में मददगार साबित होगा साथ ही हमारा शहर स्वच्छता में नंबर 01 शहर बनेगा.

इस अवसर पर विभिन्न नाटक मंडलियों एवं कलाकारों ने नुक्कड नाटक एवं नृत्य नाटिका के माध्यम से भोपाल की बारी नंबर 1 की तैयारी के स्लोगन के साथ स्वच्छता में सहयोग करने, खुले में शौच न करने तथा कबाड़ से जुगाड़ संबंधी संदेश भी दिए.

दारूल उलूम में स्वच्छता की पाठशाला

महापौर आलोक शर्मा ने स्वच्छता की पाठशाला के दौरान मदरसा दारूल उलूम ताजुल मसाजिद के विद्यार्थियों को स्वच्छता से मानव स्वास्थ्य एवं पर्यावरण पर पडऩे वाले प्रभावों के संबंध में जानकारी दी और स्वयं से स्वच्छता प्रारंभ कर अपने घर, परिवार, मोहल्ला, संस्थान, शहर को साफ-स्वच्छ रखने में सहयोग करें.

महापौर शर्मा ने गीला कचरा हरे डस्टबिनम में और सूखा कचरा नीले डस्टबिन में रखने की समझाईश दी और घर, संस्थान पर ही गीले-सूखे कचरे को पृथक-पृथक डस्टबिन में एकत्र करने और निगम के स्वच्छताकर्मी को देने को कहा साथ ही रोको-टोको अभियान को भी आत्मसात करते हुए स्वयं गंदगी न करने और दूसरों को भी गंदगी करने से रोकने की अपील की.

Related Posts: